scorecardresearch
 

मुंबई में फिर बढ़ रहा कोरोना मामलों का ग्राफ, न्यू ईयर तक रहना होगा बेहद सतर्क

डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि दिवाली के बाद कोरोना मामलों की संख्या में इजाफा हो सकता है, क्योंकि त्योहार गुजरने के बाद मुंबई में बड़ी संख्या में लोग लौटेंगे और सड़कों व बाजारों में भीड़ बढ़ेगी. इसलिए लोगों को विशेष सावधान रहने की जरूरत है.

मुंबई में एक शिक्षक से स्वैब लेते स्वास्थ्यकर्मी (फोटो- पीटीआई) मुंबई में एक शिक्षक से स्वैब लेते स्वास्थ्यकर्मी (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई में फिर बढ़ रहे कोरोना केस
  • न्यू ईयर तक रहना होगा बेहद सतर्क
  • 21 नवंबर को 1092 कोरोना पॉजिटिव

काफी दिनों के बाद मुंबई में एक बार फिर से कोरोना की आहट सुनाई दे रही है. मुंबई में पिछले 4 दिनों का कोरोना पॉजिटिव आंकड़ा देखें तो इसमें लगातार बढ़ोतरी जारी है. हालांकि बीएमसी का दावा है कि देश की आर्थिक राजधानी में कोरोना कंट्रोल में है, लेकिन आंकड़े कोरोना के बढ़ते ग्राफ की ओर इशारा कर रहे हैं.  

18 नवंबर को मुंबई में 871 पॉजिटिव केस दर्ज किए गए. 19 तारीख को इस आंकड़े में 50 से ज्यादा का इजाफा दर्ज किया गया और ये डेटा 924 हो गया. अगले ही दिन यानी कि 20 नवंबर को इसमें 100 से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई और इस दिन कोरोना के 1037 केस दर्ज किए गए. 21 नवंबर को भी कोरोना में इजाफे का ट्रेंड जारी रहा और इस दिन 1092 कोरोना पॉजिटिव केस दर्ज किए गए. इस तरह 4 दिनों में शहर में 200 से ज्यादा कोरोना केस बढ़ गए.

डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि दिवाली के बाद कोरोना मामलों की संख्या में इजाफा हो सकता है, क्योंकि त्योहार गुजरने के बाद मुंबई में बड़ी संख्या में लोग लौटेंगे और सड़कों व बाजारों में भीड़ बढ़ेगी. इसलिए लोगों को विशेष सावधान रहने की जरूरत है. डॉक्टरों का कहना है कि मुंबई में दिवाली के बाद से लेकर नए साल तक का समय बहुत चुनौतीपूर्ण रहने वाला है. 

इस बीच बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने कहा है कि बीएमसी हर तीन चार सप्ताह के बाद हालात की समीक्षा करेगा. उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग अभी समाप्त नहीं हुई है और हमें हमेशा चुनौती के लिए तैयार रहना चाहिए. 

यूरोप जैसी कोरोना लहर की आशंका

पीडी हिन्दुजा अस्पताल के डॉक्टर पिंटो ने कहा है कि आने वाले दिनों में मुंबई को सावधान रहने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि लोगों में सीरो फैक्टर की मौजदूगी और कोरोना दोबारा न होने की चांसेज की वजह से धीरे-धीरे हर्ड इम्युनिटी की अवस्था आएगी. हालांकि इसमें देरी है. 

डॉक्टर पिंटो ने कहा कि बहुत संभव है कि भारत में भी यूरोप की तरह कोरोना की नई लहर आ सकती है. इस दौरान लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. 

थ्री C से बचने की सलाह 
 
डॉ पिंटो ने दिल्ली के लोगों को इन 3 C से बचने की सलाह दी है. ये क्राउंडिंग, क्लोज स्पेस और क्लोज कॉन्टैक्ट. उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों को पहले की तरह ही मास्क, सैनिटाइजिंग, हैंड वॉश पर ध्यान देना चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें