scorecardresearch
 

झारखंड: कोरोना चेन तोड़ने के लिए बढ़ाया गया स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह, 27 मई तक रहेगी सख्ती

कोरोना की दूसरी लहर की चेन तोड़ने के लिए सोरेन सरकार ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की अवधि बढ़ा दी है. अब 27 मई तक राज्य में पाबंदिया जारी रहेंगी. इसके साथ ही सरकार ने इस अवधि के लिए नई गाइडलाइन भी जारी कर दी है. 

झारखंड में 27 मई तक बढ़ाया गया स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह झारखंड में 27 मई तक बढ़ाया गया स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शादी में अधिकतम 11 लोग ही हो सकेंगे शामिल
  • बाहर से आने वालों के लिए 7 दिनों क्वारेंटाइन अनिवार्य
  • निजी वाहनों को ई-पास के आधार पर मिलेगा प्रवेश 

झारखंड में कोरोना संक्रमण पर ब्रेक लगाने के लिए अब स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह 27 मई की सुबह 6 बजे तक प्रभावी रहेगा. 13 मई की सुबह छह बजे तक समाप्त हो रही पुरानी अवधि से पहले ही सोरेन सरकार ने फैसला लेते हुए नई गाइडलाइन भी जारी कर दी है. जरूरी सेवाओं पर पहले की तरह छूट रहेगी, इसके साथ ही राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन के साथ सख्ती बरते जाने के निर्देश भी दिए हैं.  

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में आज आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई. इस बैठक में 13 मई की सुबह छह बजे समाप्त हो रहे स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह को बढ़ाने का फैसला हुआ. बैठक में तय किया गया कि स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह को दो सप्ताह के लिए बढ़ा दिया जाए, जिससे कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाया जा सके. बैठक में फैसला लिया गया कि जारी प्रतिबंधों के अतिरिक्त नए प्रतिबंधों की लिस्ट भी जारी की गई है. 

नई गाइडलाइन के अनुसार रखें ये ध्यान 
1. राज्य के बाहर से आने वाले सभी व्यक्तियों को 7 दिनों का होम अथवा इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन में रहना अनिवार्य होगा. यह उन व्यक्तियों पर लागू नहीं होगा जो 72 घंटे के अंदर राज्य से बाहर चले जाएंगे.
2. इंटर स्टेट और इंट्रा स्टेट बसों का परिचालन प्रतिबंधित रहेगा. निजी वाहनों का मूवमेंट अनुमत कार्यों हेतु ई-पास के आधार पर होगा.
3. शादी मात्र अपने घरों में अथवा कोर्ट में संपन्न की जा सकेंगी. इसमें अधिकतम 11 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे तथा इस अवसर पर किसी प्रकार के आयोजन पर प्रतिबंधित रहेगा.
4. हाट-बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग गाइडलाइन का कड़ाई से अनुपालन करना अनिवार्य होगा. 

ये भी पढ़ें- प्राइवेट हॉस्पिटल के 50% बेड कोविड के लिए रिजर्व, झारखंड सरकार का फैसला

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से की ये मांग
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में झारखंड सरकार के मंत्री बन्ना गुप्ता ने बताया कि कि सुदूर इलाकों में जहां इंटरनेट और मोबाइल कनेक्टिविटी की समस्या है इसके कारण कोविन वेबसाइट से आने वाली ओटीपी नहीं मिल पा रहे हैं और लोगों को ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग में दिक्कत हो रही है, लिहाज़ा ऐसे लोगों के लिए ऑनसाइट निबंधन की अनुमति प्रदान की जाए. वहीं बन्ना गुप्ता ने कहा कि 6 लाख से अधिक कोविशील्ड का सेकंड डोज लगाना बाकि है, इसलिए तत्काल 10 लाख कोविशील्ड केन्द्र सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाए. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें