scorecardresearch
 

गुजरात में दिवाली तक नहीं खुलेंगे स्कूल, ऑनलाइन क्लास ही विकल्प

गुजरात में सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ाई लिखाई ऑनलाइन हो रही है. कोरोना संक्रमण न थमने की वजह से राज्य सरकार स्कूलों को खोलने का फैसला नहीं कर पा रही है.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो- पीटीआई) प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिवाली तक स्कूल खोलने का विचार नहीं
  • नहीं थम रहा कोरोना का संक्रमण
  • मार्च से ही बंद हैं कक्षाएं

कोरोना महामारी गुजरात में थम नहीं रही है. गुजरात में अब तक 1 लाख 15 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं. मार्च से ही स्कूल बंद हैं. इस बीच राज्य सरकार ने कहा है कि राज्य में दिवाली तक स्कूल खुलने के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं. 

आम तौर पर गुजरात में जून महीने से ही क्लास शुरू हो जाता है, परंतु इस साल अभी तक स्कूलों के खुलने के कोई आसार नहीं हैं. राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्र सिंह चूड़ासमा ने कहा कि राज्य में वर्तमान शैक्षणिक वर्ष के लिए दीपावली तक स्कूल नहीं खुलेंगे.

गुजरात में सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ाई लिखाई ऑनलाइन हो रही है. कोरोना संक्रमण न थमने की वजह से राज्य सरकार स्कूलों को खोलने का फैसला नहीं कर पा रही है. सूत्रों के मुताबिक कोरोना के काबू में आने के बाद ही स्कूलों को खोला जाएगा, तब तक के लिए ऑनलाइन शिक्षा ही एकमात्र विकल्प है. 

राज्य सरकार के मुताबिक दीपावली के बाद स्वास्थ्य विभाग, स्कूल प्रबंधन मिलकर परिस्थिति का आकलन करेंगे, इसके बाद ही विद्यालयों को दोबारा खोलने पर निर्णय लिया जाएगा. 

इससे पहले राज्य सरकार ने माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूलों को जल्द ही शुरू करने के निर्देश दिए थे, लेकिन स्थिति को देखते हुए यह भी संभव नहीं लग रहा है. इस वजह से सभी छात्रों को फिलहाल ऑनलाइन विकल्प पर ही विचार करना होगा. 

गुजरात में कोरोना की स्थिति

बता दें कि गुजरात में अबतक कोरोना के एक लाख 14 हजार 996 मामले आ चुके हैं, यहां पर 95 हजार 265 लोग ठीक हो चुके हैं, राज्य में अबतक कोरोना से 3230 लोगों की मौत हो चुकी है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें