scorecardresearch
 

बंगाल: डॉक्टरों की चेतावनी- त्योहारों की वजह से बढ़ी भीड़, कहर बरपा सकता है कोरोना

पिछले 6 महीने से कोरोना संकट को लेकर काम कर रहे डॉक्टरों को डर है कि त्योहारों की वजह से बंगाल में कोरोना केस में जबरदस्त उछाल हो सकता है. राज्य में दुर्गा पूजा के जश्न की तैयारियों के बीच कई एक्सपर्ट ने इस ओर इशारा किया है. 

बाजारों में बढ़ने लगी है भीड़ (फोटो क्रेडिट: TAPAS BAIRY) बाजारों में बढ़ने लगी है भीड़ (फोटो क्रेडिट: TAPAS BAIRY)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल में बढ़ सकता है कोरोना संकट का कहर
  • त्योहार के सीजन की वजह से डॉक्टरों की चिंता
  • दुर्गा पूजा के कारण बाजारों में हो रही भीड़

देश में कोरोना वायरस का संकट बरकरार है और इस बीच आ रहे त्योहारों के कारण चिंता और भी बढ़ रही है. जल्द ही दुर्गा पूजा की शुरुआत होने वाली है, ऐसे में पश्चिम बंगाल को लेकर डॉक्टरों ने अपने चिंताएं जाहिर की हैं. पिछले 6 महीने से कोरोना संकट को लेकर काम कर रहे डॉक्टरों को डर है कि त्योहारों की वजह से बंगाल में कोरोना केस में जबरदस्त उछाल हो सकता है. राज्य में दुर्गा पूजा के जश्न की तैयारियों के बीच कई एक्सपर्ट ने इस ओर इशारा किया है. 

सीनियर कार्डिएक सर्जन कुनाल सरकार का कहना है कि हमें अभी को लेकर चिंता है, एक महीने पहले हालात कुछ हदतक सामान्य थे. लेकिन अब टेस्टिंग की रफ्तार कम हो गई है, अब देश में बंगाल और केरल ही ऐसे राज्य हैं जहां पॉजिटिविटी रेट काफी अधिक है. अब हम त्योहारों की ओर बढ़ रहे हैं, ऐसे में पंडालों के आसपास होने वाली भीड़ कोरोना के केस में जबरदस्त उछाल ला सकती है. 

देखें: आजतक LIVE TV


आपको बता दें कि दुर्गा पूजा के लिए इस साल कोलकाता में करीब दो हजार पंडाल बनाए गए हैं, जबकि पूरे बंगाल में ये संख्या 30 हजार तक की है. 

दुर्गा पूजा की तैयारियां अभी से शुरू हो गई हैं, लोगों ने खरीदारी करना शुरू किया है और इसी कारण बाजारों में भीड़ होने लगी है. इस दौरान किसी-किसी के चेहरे पर ही मास्क दिखता है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हो रहा है. अब एक्सपर्ट का कहना है कि ये आगे चलकर भयावह हो सकता है. 

कुनाल सरकार के मुताबिक, अगर क्राउड कंट्रोल सही तरीके से नहीं होता है तो ये भयावह हो सकता है. पुलिस को सड़क पर होना चाहिए जिस तरह लॉकडाउन के पहले महीने में सख्ती थी अगले दो-तीन हफ्ते के लिए वैसा ही होना चाहिए. एक छोटे से पंडाल या जगह में भीड़ इकट्ठा होना ठीक नहीं है. 

(Photo Credits: Tapas Bairy)


सिर्फ पंडाल ही नहीं बल्कि राज्य में अस्पतालों की स्थिति भी बदतर होती जा रही है. केस की संख्या बढ़ने से अस्पताल भर रहे हैं, जिसके चलते सभी मेडिकल स्टाफ की छुट्टी दुर्गा पूजा और अन्य त्योहारों के लिए रद्द कर दी गई है. कोविड मरीजों के लिए क्रिटिकल केयर यूनिट का संचालन करने वाले अर्नव चक्रवर्ती के मुताबिक, अब अस्पतालों में बेड नहीं हैं, इसकी काफी अधिक चिंता है पहले ही लोग अपना नंबर लगाए हुए हैं. 

गौरतलब है कि बंगाल में अभी कोरोना केस की कुल संख्या तीन लाख के पार जा चुकी है और ये लगातार बढ़ती जा रही है. राज्य में अबतक 5800 से अधिक मौत कोरोना संकट के कारण हुई हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें