scorecardresearch
 

कोरोना से जंग में साथ आया एशियन डेवेलपमेंट बैंक, भारत को 16700 करोड़ की मदद का ऐलान

कोरोना से लड़ाई के लिए एशियन डेवेलपमेंट बैंक की ओर से भारत को 2.2 अरब डॉलर का पैकेज दिया जाएगा. इस संबंध में बैंक के अध्यक्ष ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बात की है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (PTI फोटो) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (PTI फोटो)

  • कोरोना के खिलाफ भारत की जंग से खुश ADB बैंक
  • ADB बैंक की गवर्नर हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

कोरोना के खिलाफ जंग में एशियन डेवेलपमेंट बैंक (ADB) ने भारत को मदद का ऐलान किया है. ADB के अध्यक्ष मसातसुगु असाकावा ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से बात भी की. इस दौरान असाकावा ने ADB की ओर से हर संभव मदद देने का वादा किया है. बैंक अध्यक्ष के मुताबिक भारत को 2.2 अरब डॉलर (लगभग 16,700 करोड़ रुपये) का पैकेज देने की तैयारी की जा रही है. बता दें कि सीतारमण ADB की गवर्नर भी हैं.

बैंक ने की भारत की तारीफ

असाकावा ने फोन पर सीतारमण से बात करते हुए कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत की ओर से उठाए गए कदमों की तारीफ की. इनमें नेशनल हेल्थ इमरजेंसी प्रोग्राम के अलावा कारोबार जगत को टैक्स में छूट जैसे अन्य राहत उपाय शामिल हैं. साथ ही तीन हफ्ते के लॉकडाउन से प्रभावित गरीबों, महिलाओं और मजदूरों को आय और राशन की मदद के लिए 26 मार्च को घोषित किया गया 23 अरब डॉलर का आर्थिक राहत पैकेज भी शामिल है.

मदद के लिए तैयार

असाकावा ने कहा, “ADB भारत की आपातकालीन जरूरतों को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है. हम अब भारत को तत्काल 2.2 अरब डॉलर की सहायता देने की तैयारी कर रहे हैं. ये रकम हेल्थ सेक्टर, महामारी के गरीबों पर पड़े आर्थिक असर से निपटने, असंगठित श्रमिकों, MSME उद्यमियों और वित्त सेक्टर के लिए काम आएगी.”

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

ADB अध्यक्ष ने कहा, “बैंक से भारत को मदद आगे जरूरत पड़ने पर बढ़ाई जा सकती है. हम भारत की जरूरतों के लिए अपने सभी वित्तीय विकल्पों पर विचार करेंगे. इन विकल्पों में आपातकालीन सहायता, पॉलिसी आधारित कर्ज और फंड का त्वरित वितरण शामिल है.”

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

ADB इस अवधि में प्राइवेट सेक्टर की वित्तीय ज़रूरतों को पूरा करने के लिए भी उससे संपर्क में है. 18 मार्च को ADB ने अपने विकासशील सदस्य देशों की तात्कालिक जरूरतों को पूरा करने के लिए करीब 6.5 अरब डॉलर के पैकेज का ऐलान किया था. इन देशों में भारत भी शामिल है. ADB की स्थापना 1966 में हुई थी. इसके 68 सदस्य हैं जिनमें से 48 क्षेत्र से शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें