scorecardresearch
 

कोरोना वैक्सीन का खुद पर ट्रायल करवाएंगे हरियाणा के मंत्री अनिल विज

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने खुद पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल करवाने का फैसला किया है. तीसरे और अंतिम चरण के ट्रायल में शामिल होने के लिए अनिल विज ने पेशकश की है.

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (फाइल फोटो) हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (फाइल फोटो)

कोरोना के खिलाफ जंग में भारत में भी वैक्सीन बनाने की तैयारी बहुत जोर शोर से चल रही है. इस बीच हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने खुद पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल करवाने का फैसला किया है. तीसरे और अंतिम चरण के ट्रायल में शामिल होने के लिए अनिल विज ने पेशकश की है.

बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा को दिल्ली में बढ़ रहे संक्रमण का दोषी बताने वाले आम आदमी पार्टी (आप) नेताओं को पहले दिल्ली में संक्रमण से निजात पाने के बारे में सोचना चाहिए. उन्होंने कहा कि अब जिंदगी और कोरोना से बचाव के तरीके साथ-साथ चलेंगे.

लॉकडाउन के सवाल पर अनिल विज ने कहा कि अगर सख्त कदम उठाने की जरूरत पड़ी तो सरकार पीछे नहीं हटेगी. साथ ही कहा कि हरियाणा में किसी और निकिता को गोली न खानी पड़े, इसके लिए कड़ा का.नून बनाएंगे. अनिल विज ने गुपकार संगठन और कांग्रेस पर भी भड़ास निकाली.

आपको बता दें कि भारत बायोटेक ने तीसरे चरण का ट्रालय शुरु कर दिया है. इसमें भारत के 25 केंद्रों से 26 हजार वॉलन्टियर्स पर ट्रायल होगा. ये ट्रायल इंडियन कैंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर की साझीदारी में हो रहा है. इन वॉलन्टियर्स को अगले साल तक निगरानी में रखा जाएगा. भारत में ये कोविड 19 वैक्सीन के लिए सबसे बड़ा क्लिनिकल ट्रायल है.

देखें: आजतक LIVE TV

इस बीच रूस की स्पुतनिक वी वैक्सीन के ह्युमन ट्रायल के लिए भारतीय कंपनी जुड़ चुकी है. डॉक्टर रेड्डी लैब को इसके लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की इजाजत मिल चुकी है. इसी लैब के लिए कानपुर का गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज वैक्सीन का दूसरे और तीसरे दौर का ह्यूमन ट्रायल करेगा. इस ट्रायल के लिए 180 से ज्यादा वॉलंटियर्स की सूची तैयार कर ली गई है. इन सभी को 7 महीने तक निगरानी में रखा जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें