scorecardresearch
 

कोरोना के नए स्ट्रेन से हड़कंप, ब्रिटेन से लौटे संक्रमित यात्रियों की होगी जीनोम सीक्वेंसिंग

ब्रिटेन और भारत के बीच उड़ानों पर रोक लग चुकी है, मगर इस रोक से पहले भारत आने वाले यात्रियों में से 20 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अभी और यात्रियों को ट्रेस करके उनका कोरोना टेस्ट किया जा रहा है.

संक्रमितों के सैंपल की होगी जीनोम सीक्वेंसिंग संक्रमितों के सैंपल की होगी जीनोम सीक्वेंसिंग

क्या भारत में ब्रिटेन का नया कोरोना वायरस आ चुका है? ये सवाल हर किसी के मन में उठ रहा है. वहीं इसका जवाब डर पैदा करने वाला है. दरअसल, ब्रिटेन और भारत के बीच उड़ानों पर रोक लग चुकी है, मगर इस रोक से पहले भारत आने वाले यात्रियों में से 20 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अभी और यात्रियों को ट्रेस करके उनका कोरोना टेस्ट किया जा रहा है.

वैज्ञानिकों के मुताबिक इनमें से 50 फीसदी यात्रियों में ब्रिटेन का नया कोरोना वायरस हो सकता है. दरअसल, ब्रिटेन में 60 फीसदी लोग नए कोरोना वायरस से बीमार हैं. इस हिसाब से 20 यात्रियों में से आधे में नया कोरोना वायरस हो सकता है. इनके सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग से पता चलेगा कि भारत में नया कोरोना वायरस आ चुका है या नहीं.

जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए चुनिंदा प्रयोगशालाएं हैं - इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (नई दिल्ली), सीएसआईआर-आर्कियोलॉजी फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (हैदराबाद), डीबीटी - इंस्टीट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज (भुवनेश्वर), डीबीटी-इन स्टेम-एनसीबीएस (बेंगलुरु), डीबीटी - नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (NIBMG), (कल्याणी, पश्चिम बंगाल), आईसीएमआर- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (पुणे).

दरअसल, पिछले 2-3 हफ्ते में ब्रिटेन से आए लोगों का टेस्ट नहीं हुआ था. अब राज्य सरकारों को उनकी खोजबीन के लिए कहा गया है. वहीं वैज्ञानिक इस बात से इनकार नहीं करते कि ब्रिटेन से पहले आए लोगों से नया कोरोना वायरस अपने पैर नहीं पसार चुका होगा. इस बीच तमाम राज्य सरकारों ने नए कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाए हैं.

देखें: आजतक LIVE TV

महाराष्ट्र के सभी शहरों में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू है. केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं. उसने आगाह किया है कि अगर क्रिसमस और न्यू ईयर पर दशहरा और दीपावली जैसी लापरवाही होगी तो कोरोना वायरस फिर से हमलावर हो जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें