scorecardresearch
 

कोरोनाः ठेले पर डॉक्टर, इलाज के लिए अस्पताल में तड़पते मरीज, ये है बिहार का हाल

बिहार में कहीं कोरोना मरीजों को इलाज नहीं मिल पा रहा है, तो कहीं कोविंड-19 हॉस्पिटल ही बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. बिहार की दुर्दशा से आम लोगों के साथ ही खुद नीतीश कुमार की पार्टी के कार्यकर्ता भी परेशान हैं.

सुपौल में डॉक्टर को ठेले से कोविड सेंटर पहुंचाया गया सुपौल में डॉक्टर को ठेले से कोविड सेंटर पहुंचाया गया

  • बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 20 हजार के पार
  • कोरोना इलाज को लेकर नीतीश सरकार पर उठ रहे सवाल

बिहार में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 20 हजार के पार पहुंच गया है. कहीं लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है, तो कहीं कोविंड-19 हॉस्पिटल ही बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. बिहार की दुर्दशा से आम लोगों के साथ ही खुद नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) कार्यकर्ता भी परेशान हैं.

कल ही एक तस्वीर सामने आई थी, जिसमें एक डॉक्टर ठेले पर बैठकर कोविड-19 सेंटर में जा रहा था. यह तस्वीर बिहार के सुपौल की थी. सुपौल के कोविड-19 सेंटर में पानी भर गया था. इस वजह से डॉक्टर अमरेंद्र कुमार को ठेले पर बैठकर कोविड-19 सेंटर जाना पड़ा. बिहार में स्वास्थ्य सुविधाओं का बुरा हाल है.

बिहार में कोरोना का वार, आंकड़ा 20 हजार के पार, आज से फिर लॉकडाउन

राजभवन से लेकर सीएम आवास तक संक्रमण

बिहार में राज्यपाल निवास से लेकर मुख्यमंत्री आवास तक कोरोना संक्रमण की जद में है. पिछले दिनों सीएम नीतीश कुमार की भतीजी कोरोना पॉजिटिव मिली थी. कल राज्यपाल निवास के कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इसके अलावा बिहार बीजेपी दफ्तर में कोरोना संक्रमण फैल गया है. प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेता कोरोना संक्रमित हैं.

एम्स के बाहर फर्श पर तड़पते रहे अवर सचिव, मौत

पिछले दिनों गृह विभाग के अवर सचिव उमेश रजक की कोरोना से मौत हो गई थी. पटना एम्स में उन्होंने अंतिम सांस ली थी. इलाज के लिए उन्हें 24 घंटे तक अस्पताल के बाहर फर्श पर उन्हें इंतजार करना पड़ा था. जब इसका वीडियो वायरल हुआ तो उन्हें भर्ती लिया गया था. यह वीडियो तेजस्वी यादव ने भी शेयर किया था.

कोरोना का नया रिकॉर्ड, एक दिन में 32 हजार से अधिक केस, 606 लोगों की मौत

जेडीयू कार्यकर्ता के जीजा की मौत

पटना महानगर के जेडीयू युवा इकाई के प्रवक्ता अमित कुमार सिंह ने 5 दिन पहले एक फेसबुक लाइव किया, जिसमें उन्होंने के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पीएमसीएच के बदहाली की तस्वीरें दिखाई. 5 दिन पहले ही पीएमसीएच में अमित कुमार सिंह के जीजा की मौत हो गई थी और उन्होंने आरोप लगाया कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से ऐसा हुआ.

पटना एम्स के दो डॉक्टरों की मौत

पटना एम्स में तैनात डॉक्टर एनके सिंह और डॉक्टर अश्विनी कुमार ननकुलियार की कोरोना से मौत हो गई है. डॉक्टर एनके सिंह की रिपोर्ट आठ दिन पहले ही पॉजिटिव आई थी. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. पिछले 24 घंटे में एम्स में कोरोना से दो डॉक्टरों की मौत से हड़कंप मच गया. कई मेडिकल स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव हैं.

वैक्सीन को लेकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से आ सकती है अच्छी खबर

कोरोना जांच में हो रही लापरवाही

इससे पहले मगध डेयरी के एमडी अवधेश कुमार कर्ण की कोरोना से मौत हो गई. उन्हें 13 जुलाई को एएनएमसीएच में भर्ती कराया गया था और 15 जुलाई को उनकी मौत हो गई. कई लोगों की शिकायत है कि स्वास्थय विभाग कोरोना जांच कराने में कोताही बरत रहा है. गया जिले के सामाजिक कार्यकर्ता भी स्वास्थ्य विभाग पर इल्जाम लगा रहे हैं.

मौत के बाद भी बेड से नहीं हटाया जा रहा शव

रिपोर्ट के अनुसार, बीते दिनों नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल (एनएमसीएच) में बड़ी लापरवाही सामने आई थी. मौत हो के बाद मरीजों का शव एक से दो दिन तक वार्ड के बेड पर ही पड़ा रहता. मंगलवार को दो मरीजों की मौत हो गई, लेकिन उनके शव को बुधवार रात तक नहीं हटाया गया. इस लापरवाही को लेकर तीमारदारों ने हंगामा किया था.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

शिक्षक की मौत, आइसोलेशन सेंटर की खोली थी पोल

खगड़िया में ईवीएम की ट्रेनिंग के दौरान संक्रमित हुए प्रधानाचार्य कैलाश झा किंकर की 13 जुलाई को मौत हो गई थी. उन्हें आइसोलेशन सेंटर में रखा गया था. कैलाश झा ने अपने दोस्त से व्हाट्सऐप पर बात करते हुए आइसोलेशन सेंटर की पोल खोल दी थी. उन्होंने कहा था कि यहां कोई व्यवस्था नहीं है. सेंटर के डॉक्टर मरीजों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं.

अस्पताल में तड़प-तड़पकर हुई थी कोरोना मरीज की मौत

20 जून को पटना के एनएमसीएच कोविड-19 अस्पताल में एक कोरोना पॉजिटिव शख्स की तड़प-तड़प कर मौत हो गई थी. कोरोना पॉजिटिव शख्स तड़पता रहा, लेकिन कोई भी स्वास्थ्यकर्मी उसके इलाज के लिए आगे नहीं आया था. इस पूरी घटना का एक वीडियो सामने आया था, जिसके बाद अस्पताल प्रशासन ने जांच के आदेश दिए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें