scorecardresearch
 
कोरोना

कोरोना जांच के लिए स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत, डॉक्टर के खिलाफ केस

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 1/6

त्रिपुरा में कोरोना जांच के लिए नवजात बच्चे का स्वैब लिए जाने के बाद उसकी मौत हो गई. अब करीब दो हफ्ते के बाद उस नवजात बच्चे की मां ने अस्पताल में डॉक्टरों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की और उन पर लापरवाही का आरोप लगाया है. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 2/6

शिकायतकर्ता के अनुसार, शिशु अपने स्वैब के नमूनों के संग्रह तक स्वस्थ था जिसके बाद उसे नाक से खून बहने लगा. इसके बाद भी डॉक्टरों ने परिवार को आश्वासन दिया कि वह ठीक हो जाएगा लेकिन कुछ समय बाद ही तीन दिन के उस बच्चे की मौत हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 3/6

पुलिस ने कहा कि गुरुवार को बच्चे की मां ने शिकायत दर्ज कराई है लेकिन वो पहले ही इस मामले की जांच शुरू कर चुके हैं. यह घटना इस महीने की शुरुआत में हुई थी. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 4/6

मामले को लेकर न्यू कैपिटल कॉम्प्लेक्स पुलिस स्टेशन के प्रभारी अधिकारी सुब्रमण बर्मन ने कहा, हमने धारा 157 सीआरपीसी के तहत जांच शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया था क्योंकि वो कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी. हाल ही में अस्पताल से घर आने के बाद उसने शिकायत दर्ज कराई. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 5/6

बच्चे का जन्म 10 अगस्त को राजकीय गोविंद बल्लभ पंथ (जीबीपी) अस्पताल में हुआ था और उसकी मृत्यु 12 अगस्त को हुई थी. बच्चे के स्वैब नमूने तब लिए गए थे जब उसकी मां कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं.रिपोर्ट निगेटिव पाए जाने के बाद महिला को हाल ही में अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था. (सांकेतिक तस्वीर)

स्वैब लेने के बाद नवजात की मौत
  • 6/6

बच्चे की मौत के एक दिन बाद, राज्य सरकार ने बच्चे की मौत की विभागीय जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन कर दिया था. समिति ने हाल ही में राज्य सरकार को अपनी जांच के आधार पर अपनी रिपोर्ट सौंपी थी. स्वास्थ्य सेवा निदेशालय के निदेशक डॉ सुभाषिश देबबर्मा ने कहा, ''रिपोर्ट सरकार के पास है'' (सांकेतिक तस्वीर)