scorecardresearch
 
कोरोना

कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग

कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 1/7
लॉकडाउन के बाद एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें नोटों में थूक लगाकर कोरोना वायरस फैलाने की बात दिखाई जा रही थी. इसके बाद से सड़क पर गिरे नोटों के मामले काफी सामने आ रहे हैं. झारखंड के रामगढ़ जिले में लॉकडाउन के दौरान पांचवी बार सड़क पर गिरे नोट मिले हैं.
कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 2/7
बुधवार को फिर रामगढ़ रांची रोड के बीच काली मंदिर के समीप पांच 500, 50, और 10 के नोट सड़क पर पड़े हुए मिले. 500 के दो, 50 का एक, तीन 10 रुपये के नोटों को पुलिस ने सैनिटाइज करके जब्त कर लिया.
कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 3/7
सड़क पर नोट गिरे होने की सूचना पर आसपास के लोग लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हुए वहां जमा हो गए. पुलिस के काफी समझाने के बाद भी लोग वहां से नहीं  हटे.
कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 4/7
नोटों को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी हैं. लोग कोरोना वायरस संक्रमण के भ्रम को लेकर काफी दहशत और भय में नजर आ रहे हैं. रामगढ़ जिले में सड़क पर पड़े नोट मिलने का यह पांचवां मामला है.

कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 5/7
सबसे पहले रामगढ़ प्रखंड के समीप, फिर सुभाष चौक के पास, उसके बाद भुरकुंडा में, फिर रांची रोड दुर्गा मंडा के समीप और अब रांची रोड के मार्ग पर काली मंदिर के समीप सड़क पर नोट मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है. लोग काफी डरे और सहमे हुए हैं.
कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 6/7
रामगढ़ में सड़क पर पड़े नोटों की अभी तक जांच रिपोर्ट नहीं आई है. जिसके कारण लोगों में दहशत और भय का वातावरण बना हुआ है. हालांकि पुलिस ने कहा है कि रामगढ़ क्षेत्र में लगातार सड़क पर नोट मिलने से ऐसा प्रतीत होता है कि यह किसी की शरारत है और ऐसे शरारत करने वाले लोगों को चिन्हित कर जल्द कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
कोरोना के खौफ ने सिखाई ईमानदारी, सड़क पर पड़े नोट नहीं उठा रहे लोग
  • 7/7
बता दें कि लॉकडाउन के बाद एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें नोटों पर थूक लगाकर कोरोना वायरस का संक्रमण फैलाने की बात कही जा रही थी. उसके बाद से देशभर में सड़क पर पड़े नोटों को लेकर यह भय फैल गया कि यह नोट कहीं कोरोना संक्रमित तो नहीं हैं.