scorecardresearch
 

10 मार्च को ओपन हो सकता है LIC IPO, 7 शेयरों का लॉट, लगाने होंगे इतने पैसे

LIC IPO Details: लोग जानना चाह रहे हैं कि इस मेगा IPO में अप्लाई करने के लिए कम से कम कितने रुपये की जरूरत होगी. चल रहीं अटकलों को मानें तो एलआईसी का इश्यू प्राइस (LIC IPO Issue Price) 2000 रुपये से 2100 रुपये के बीच हो सकता है.

X
LIC IPO का निवेशकों को इंतजार
LIC IPO का निवेशकों को इंतजार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • LIC IPO के प्राइस बैंड को लेकर जानकारी
  • रिटेल निवेशकों में IPO को लेकर उत्साह

अगर आप LIC IPO में निवेश का इंतजार कर रहे हैं तो फिर ये मौका आपको जल्द मिलने वाला है. सरकार का लक्ष्य 31 मार्च से पहले इस IPO को लॉन्च करने का है. लेकिन इस बीच मीडिया में चल रहीं खबरों के मुताबिक आईपीओ 10 मार्च 2022 को लॉन्च हो सकता है. 

LIC IPO Details: रिपोर्ट्स के मुताबिक निवेशकों के लिए यह आईपीओ 10 मार्च को ओपन (LIC IPO Open Date) होगा, और 14 मार्च तक ओपन रहेगा. खबर है कि LIC के इश्यू का साइज 65,000 करोड़ रुपये का हो सकता है. सबसे ज्यादा रिटेल निवेशकों में LIC IPO को लेकर उत्साह देखा जा रहा है. 

इश्यू प्राइस को लेकर खबर 

लोग जानना चाह रहे हैं कि इस मेगा IPO में अप्लाई करने के लिए कम से कम कितने रुपये की जरूरत होगी. चल रहीं अटकलों को मानें तो एलआईसी का इश्यू प्राइस (LIC IPO Issue Price) 2000 रुपये से 2100 रुपये के बीच हो सकता है. ऐसे में अपर प्राइस बैंड (Price Band) के हिसाब से रिटेल निवेशक (Retail Investor) को एक लॉट के लिए 14,700 रुपये लगाने होंगे. 7 शेयरों का एक लॉट हो सकता है. 

हालांकि, सरकार की ओर से LIC आईपीओ के प्राइस बैंड और ओपनिंग डेट को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है. ऐसे में प्राइस बैंड और IPO ओपनिंग डेट को लेकर जो खबरें चल रही हैं, वो केवल अटकलों पर आधारित है. 

5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी

दरअसल, बीमा कंपनी (LIC) ने 13 फरवरी को सेबी के पास ड्राफ्ट पेपर जमा कराए थे. इस दस्तावेज के जमा होने के बाद मार्च तक कंपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया पूरी करने को तैयार है. ड्राफ्ट के मुताबिक कुल 31,62,49,885 शेयर जारी होंगे.  

LIC का मेगा IPO आने के बाद मार्केट कैप में ये रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) को पीछे छोड़कर देश की सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी. IPO को लेकर SEBI में जमा दस्तावेजों के मुताबिक सरकार 31 करोड़ इक्विटी शेयर के जरिए अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. इस समय सरकार की LIC में 100 फीसदी हिस्सेदारी है. 

LIC पॉलिसीधारकों में 'डिस्काउंट' से उत्साह की उम्मीद   
देश के इस सबसे बड़े IPO के लिए सरकार ने पॉलिसीधारकों के लिए भी हिस्सा रिजर्व किया है. LIC के IPO में 10 फीसदी हिस्सा पॉलिसीधारकों के लिए रिजर्व होगा. माना जा रहा है कि आम निवेशकों को IPO में शेयर के भाव में 5 फीसद का डिस्काउंट भी मिल सकता है. ऐसे में पॉलिसीधारकों IPO को उत्साह देखने को मिल सकता है. 

शेयर बाजार में तेजी संभव
LIC दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा इंश्योरेंस ब्रांड है. भारत में LIC की करीब 29 करोड़ पॉलिसीज हैं, जिनमें कुछ लोगों के पास एक से ज्यादा पॉलिसीज भी हैं. ऐसे में अनुमान है कुल पॉलिसीधारकों की संख्या 20 से 25 करोड़ के बीच हो सकती है. ऐसे में जानकारों का मानना है कि इस भारी-भरकम IPO से बाजार में निवेशकों की संख्या तेजी से बढ़ेगी. साथ ही इसका असर बाजार पर पॉजिटिव दिख सकता है. रिटेल निवेशकों की भी बाजार में एंट्री होगी. 

विनिवेश का लक्ष्य होगा हासिल
सरकार LIC के विनिवेश या शेयर बिक्री से अपने विनिवेश लक्ष्य के नजदीक पहुंचना चाहती है. पिछले साल सरकार ने 2021-22 के लिए पौने 2 लाख करोड़ का विनिवेश लक्ष्य रखा था. लेकिन हालिया बजट में इसे घटाकर 78 हज़ार करोड़ रुपये कर दिया गया है. हालांकि अभी तक सरकार को विनिवेश से करीब 12 हजार करोड़ रुपये ही मिले हैं. ऐसे में 31 मार्च तक विनिवेश लक्ष्य हासिल करने के लिए सरकार को 66 हजार करोड़ रुपये जुटाने होंगे. सरकार को उम्मीद है कि ये लक्ष्य LIC के सफल IPO के सहारे ही पूरा हो सकता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें