scorecardresearch
 

तारीख बदली, नहीं बदला जेब का हाल; अप्रैल के अप्रेजल से पहले ही महंगाई ने ऐसे किया बेहाल!

सैलरी क्लास को अप्रैल के महीने में सैलरी बढ़ने (Salary Hike) और उसके बाद महीने के अंत में बढ़ी हुई सैलरी का आने इंतजार बहुत बेसब्री से रहता है. लेकिन इस बार 1 अप्रैल से कई चीजों के दाम ऐसे बढ़े कि महंगाई ने उसकी सैलरी बढ़ने से पहले ही उसकी जेब का हाल-बेहाल कर दिया है.

X
पेट्रोल, सीएनजी, पीएनजी के बढ़े दामों ने बिगाड़ा बजट (Photo : Getty)
पेट्रोल, सीएनजी, पीएनजी के बढ़े दामों ने बिगाड़ा बजट (Photo : Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • CNG भी नहीं रही सस्ती
  • महंगे पेट्रोल का रुलाना जारी
  • आम दवाओं के बढ़े दाम

भारत में नया वित्त वर्ष पहली अप्रैल से शुरू होता है. सैलरी क्लास के लिए ये महीना काफी खास होता है, क्योंकि नए साल में उसे सैलरी बढ़ने (Salary Hike) या यूं कहें अप्रेजल (Salary Appraisal) की उम्मीद होती है और महीने के अंत में बढ़ी हुई सैलरी का इंतजार वो बहुत बेसब्री से करता है. लेकिन इस बार 1 अप्रैल से कई चीजों के दाम ऐसे बढ़े कि महंगाई ने उसकी बढ़ी सैलरी आने से पहले ही उसका हाल-बेहाल कर दिया है...

इनकम टैक्स कानून में हुए बदलाव
नए वित्त वर्ष की शुरुआत के साथ ही आयकर कानून में कई ऐसे बदलाव हुए हैं, जिसका असर आम आदमी की जेब पर पड़ने वाला है. जैसे अब PF Account में 2.5 लाख रुपये से अधिक के योगदान पर टैक्स, क्रिप्टो में निवेश से लाभ पर 30% तक का टैक्स, होम लोन के ब्याज पर मिलने वाली 1.5 लाख रुपये की एक्स्ट्रा छूट का खत्म होना शामिल है. 

आम दवाआं के बढ़े दाम
सिरदर्द से लेकर बुखार तक में काम आने वाली पैरासिटामोल दवा भी 1 अप्रैल से महंगी हो गई है. सरकार ने नेशनल लिस्ट ऑफ एसेंशियल मेडिसंस में शामिल 800 दवाइयों की कीमत 10.7% तक बढ़ा दी है. इसमें बुखार, संक्रमण, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, त्वचा रोग और एनीमिया के इलाज में काम आने वाली दवाओं के साथ-साथ पैरासिटामोल, फेनोबार्बिटोन, फिनाइटोइन  सोडियम, एजिथ्रोमाइसिन, सिप्रोफ्लोक्सासिन हाइड्रोक्लोराइड और मेट्रोनिडाजोल शामिल हैं. 

अगर 50,000 रुपये है सैलरी, तो PF पर ब्याज घटने से होगा इतना नुकसान

महंगे पेट्रोल का रुलाना जारी
उत्तर प्रदेश और पंजाब समेत 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद 22 मार्च से पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. अब हालत ये है कि दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 102.61 रुपये प्रति लीटर का हो गया है. जबकि मुंबई में इसकी कीमत 117.57 रुपये प्रति लीटर हो चुकी है. ऐसा नहीं है कि इसका असर सिर्फ अपनी गाड़ी चलाने वालों पर पड़ा हो, बल्कि अगर आप Uber जैसी टैक्सी सर्विस का भी उपयोग करते हैं तो कंपनी ने मुंबई में अपना किराया 15% तक बढ़ा दिया है. आने वाले दिनों बाकी शहरों में भी Ola-Uber अपनी सर्विस का रेट बढ़ा दें, तो चौंकना मत.

CNG भी नहीं रही सस्ती
राजधानी दिल्ली में सीएनजी से गाड़ी चलाना भी अब सस्ता नहीं रह गया है. यहां लगातार इसके दाम बढ़ रहे हैं. दिल्ली में सीएनजी 61.61 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई है. जबकि दिल्ली-एनसीआर में आने वाले नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में ये 64.18 रुपये और गुरुग्राम में 69.97 रुपये प्रति किलोग्राम तक हो गई है. जबकि कानपुर में ये सबसे महंगी 73.41 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई है. हालांकि महाराष्ट्र सरकार ने सीएनजी पर वैट की दरें 13.5% से घटाकर 3% कर दी हैं. इससे वहां सीएनजी के दाम 6 रुपये प्रति किलो तक घटे हैं.

रसोई का खर्च होगा कम, LPG Cylinder से इतनी सस्ती पड़ती है PNG!

बिगड़ा रसोई का बजट
आम आदमी के लिए सिर्फ गाड़ी चलाने का खर्च ही नहीं बढ़ा है. बल्कि उसकी रसोई का बजट भी बिगड़ गया है. खाने-पीने की चीजों के दामों लगी आग को छोड़ भी दें तो महंगाई की वजह से उसके चूल्हे की आग बुझती जरूर दिख रही है. करीब 10 दिन पहले ही सरकार ने घरेलू एलपीजी सिलेंडर (14.2 किलोग्राम वाला) के दाम 50 रुपये बढ़ाए थे. दिल्ली में इसकी कीमतें 949.50 रुपये हैं और अभी ये कब और बढ़ जाए कुछ कहा नहीं जा सकता.

वहीं घरों में खाना पकाने का दूसरा विकल्प PNG भी अब सस्ता नहीं रहा. दिल्ली-एनसीआर में पीएनजी की सप्लाई करने वाली कंपनी इंद्रप्रस्थ गैस लिमिटेड ने 1 अप्रैल से इसकी दरें भी 5.85 रुपये प्रति एससीएम बढ़ा दी हैं. इस तरह दिल्ली में अब यह 41.61 रुपये प्रति एससीएम हो गई है. वहीं सबसे महंगी पीएनजी अजमेर में 47.03 रुपये प्रति एससीएम हो गई है. हालांकि महाराष्ट्र सरकार के वैट कटौती करने से वहां पर पीएनजी की कीमतें 3.50 रुपये प्रति एससीएम घटी हैं.

बाहर खाना भी महंगा
अगर सैलरी क्लास इंसान वीकेंड पर बाहर खाना खाने की इच्छा रखता हो, तो उसकी जेब का बोझ बढ़ने वाला है. वजह Commercial LPG Cylinder की कीमतों में एक बार में ही 250 रुपये की बढ़ोत्तरी होना है. अब ये दिल्ली में 2,253 रुपये का हो गया है. जबकि कोलकाता में यही सिलेंडर अब 2,351 रुपये का, मुंबई में 2,205 रुपये का और चेन्नई में 2,406 रुपये का हो गया है. ऐसे में रेस्टोरेंट और हलवाई पर जब इसका बोझ बढ़ेगा, तो इसका असर कहीं ना कहीं ग्राहकों की जेब पर भी आएगा.

ये भी पढ़ें:  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें