scorecardresearch
 

Urgent Money: जब घर में पड़ा है सोना, तो पर्सनल लोन क्यों लेना?

कहा जाता है कि जब काफी मजबूरी हो, तभी पर्सनल लोन (Personal Loan) के लिए कदम बढ़ाना चाहिए. इसका एक ही कारण है कि पर्सनल लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज (Interest) वसूला जाता है. लेकिन अब बाजार में गोल्ड लोन (Gold Loan) इसका बेहतरीन विकल्प बन गया है.

X
गोल्ड लोन के फायदे गोल्ड लोन के फायदे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पर्सनल लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज
  • आसानी है मिलता है गोल्ड लोन

कहा जाता है कि जब काफी मजबूरी हो, तभी पर्सनल लोन (Personal Loan) के लिए कदम बढ़ाना चाहिए. इसका एक ही कारण है कि पर्सनल लोन पर सबसे ज्यादा ब्याज (Interest) वसूला जाता है. लेकिन अब बाजार में गोल्ड लोन (Gold Loan) इसका बेहतरीन विकल्प बन गया है. फिलहाल गोल्ड लोन होम लोन के ब्याज के बराबर में मिल रहा है.

दरअसल, अचानक रकम की जरूरत पड़ने पर अक्सर लोग पर्सनल लोन के विकल्प को आजमाते हैं. लेकिन पर्सनल लोन मिलना इतना आसान भी नहीं होता. सबसे पहले तो इसकी ऊंची ब्याज दर लोगों की मुश्किल की वजह बन जाती है. इसके अलावा कई बार 
सिबिल स्कोर (Cibil Score) सही ना होने या कम आमदनी और दूसरी वजहों से लोन की eligibility ना होने पर भी पर्सनल लोन मिलना मुश्किल होता है. 

कम ब्याज पर गोल्ड लोन 

लेकिन पर्सनल लोन की इन सभी दिक्कतों को दूर करने का जिम्मा अब गोल्ड लोन उठा रहा है. इसमें ब्याज दर तो कम है ही, साथ ही ये मिल भी आसानी से जाता है. 

दरअसल, गोल्ड लोन सिक्योर्ड लोन की कैटेगरी में आता है. ऐसे में गोल्ड लोन के लिए सिबिल स्कोर कोई मायने नहीं रखता. साथ ही ये पर्सनल लोन के मुकाबले आसानी से और कम ब्याज पर मिल जाता है. सबसे पहले ब्याज दरों की बात करते हैं. मौजूदा माहौल में गोल्ड लोन बेहद कम दरों पर मिल रहा है. 

सबसे सस्ता गोल्ड लोन इस वक्त मन्नापुरम और मुथुट फाइनेंस से 6.90 फीसदी पर मिल रहा है, जबकि मुथुट फाइनेंस से पर्सनल लोन न्यूनतम 14 फीसदी पर मिलेगा. पंजाब एंड सिंध बैंक से गोल्ड लोन 7 फीसदी और केनरा बैंक से 7.35 फीसदी पर मिलेगा. 

हर बैंक में गोल्ड लोन उपलब्ध

वहीं SBI से साढ़े 7 प्रतिशत पर गोल्ड लोन मिलेगा, जबकि पर्सनल लोन के लिए 9.6 से 13.85 फीसदी की ब्याज दर चुकानी होगी. 
PNB से गोल्ड लोन 8.7 फीसदी पर जबकि पर्सनल लोन 8.9 से साढ़े 14 फीसदी पर मिलेगा और ICICI से गोल्ड लोन 9 फीसदी पर मिल रहा है जबकि यहां से पर्सनल लोन साढ़े 10 से लेकर 19 फीसदी तक पर मिलेगा.

ऐसे में समझा जा सकता है कि गोल्ड लोन मिलना तो आसान है ही, साथ ही ये पर्सनल लोन के मुकाबले सस्ता भी मिलता है. हालांकि ऐसा नहीं है कि गोल्ड लोन पूरी तरह फायदे का सौदा है. इसकी भी कुछ सीमाएं हैं, जिनका ध्यान ग्राहकों को रखना जरूरी है.

समय पर गोल्ड लोन का भुगतान न करने पर कर्ज देने वाली कंपनी को ग्राहक का सोना बेचने का अधिकार है. सोने की कीमतें गिरने पर बैंक या फाइनेंस कंपनी ग्राहक से अतिरिक्त सोना गिरवी रखने के लिए भी कह सकता है. गोल्ड ज्वैलरी की वैल्यू का 90 फीसदी तक कर्ज मिलेगा. गोल्ड लोन के लिए न्यूनतम 18 कैरेट शुद्ध सोना गिरवी रखना होता है. बैंक या NBFC गोल्ड बार को गिरवी नहीं रखते हैं. ये केवल ज्वैलरी और सोने के सिक्कों के बदले ही लोन देते हैं. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें