scorecardresearch
 

दुनिया का पहला सौर ऊर्जा संचालित हवाईअड्डा बना कोचीन एयरपोर्ट

कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट दुनिया में पूरी तरह सौर ऊर्जा से संचालित होने वाला पहला हवाईअड्डा बन गया है. इस पहल से एयरपोर्ट पर खर्च होने वाली बिजली की बड़ी मात्रा में बचत होगी.

कोचीन एयरपोर्ट कोचीन एयरपोर्ट

कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट दुनिया में पूरी तरह सौर ऊर्जा से संचालित होने वाला पहला हवाईअड्डा बन गया है. इस पहल से एयरपोर्ट पर खर्च होने वाली बिजली की बड़ी मात्रा में बचत होगी.

केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने मंगलवार सुबह एयरपोर्ट पर आयोजित एक कार्यक्रम में 12 मेगावाट सौर बिजली संयंत्र का उद्घाटन किया, जिसमें कार्गो कॉम्प्लेक्स के निकट करीब 45 एकड़ क्षेत्र में 46,150 सोलर पैनल बिछाए गए हैं.

कोचीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (सीआईएएल) ने एक विज्ञप्ति में कहा कि इसके साथ एयरपोर्ट को हर दिन 50 से 60 हजार यूनिट बिजली मिलेगी , जो हवाईअड्डे के संपूर्ण परिचालन में खर्च की जाएगी.

दूसरी ओर, बॉश लिमिटेड ने कहा, 'टेक्नोलॉजी और सेवा क्षेत्र की प्रमुख आपूर्तिकर्ता कंपनी बॉश लिमिटेड ने कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के लिए 12 मेगावाट का सौर ऊर्जा संयंत्र चालू किया है. इस परियोजना को बॉश एनर्जी एंड बिल्डिंग साल्यूशंस (बीईबीएस) की टीम ने तैयार किया है.'

बॉश लिमिटेड के प्रबंध निदेशक स्टीफन बर्न्‍स ने एक कहा, 'भारत में 2022 तक 100 गीगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन का महत्वकांक्षी लक्ष्य तय किया गया है, जिसे हासिल करने की बेहतर संभावना है और बॉश सरकार के इस प्रयास की सफलता में अहम् हिस्सा बनने को प्रतिबद्ध है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें