scorecardresearch
 

छिन गया अमेरिका से ताज, अब चीन दुनिया का सबसे अमीर देश!

सुपर पावर अमेरिका (America) को पछाड़कर चीन (China) अब दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है. पिछले 20 वर्षों में चीन की संपत्ति जोरदार तरीके से बढ़ी है. जबकि अमेरिका की संपत्ति में उतनी बढ़ोतरी नहीं देखी गई है. दरअसल, कंसल्टेंसी फर्म McKinsey एंड कंपनी की ताजा रिपोर्ट कहती है कि पिछले दो दशक में दुनिया की संपत्ति 3 गुना बढ़ी है.

X
20 साल में चीन ने अमेरिका को छोड दिया पीछे 20 साल में चीन ने अमेरिका को छोड दिया पीछे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो दशक में दुनिया की संपत्ति 3 गुना बढ़ी
  • 20 साल में चीन की संपत्ति 16 गुना बढ़ी

सुपर पावर अमेरिका (America) को पछाड़कर चीन (China) अब दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है. पिछले 20 वर्षों में चीन की संपत्ति जोरदार तरीके से बढ़ी है. जबकि अमेरिका की संपत्ति में उतनी बढ़ोतरी नहीं देखी गई. 

दरअसल, कंसल्टेंसी फर्म McKinsey एंड कंपनी की ताजा रिपोर्ट कहती है कि पिछले दो दशक में दुनिया की संपत्ति 3 गुना बढ़ी है. लेकिन इस बढ़ोतरी में केवल चीन की हिस्‍सेदारी एक-तिहाई यानी करीब 33% रही है. इस हिसाब से चीन की संपत्ति करीब दो दशक में 16 गुना बढ़ी है. 

चीन की संपत्ति में बेतहाशा बढ़ोतरी 

रिपोर्ट के मुताबिक साल 2000 में दुनिया की कुल संपत्ति करीब 156 ट्रिलियन डॉलर थी, जो 2020 में बढ़कर 514 ट्रिलियन डॉलर हो गई. लेकिन इसमें एक तिहाई हिस्सा केवल चीन का है. कंसल्टेंसी फर्म McKinsey & Company ने दुनिया की 60 फीसदी आय रखने वाले टॉप-10 देशों का बैलेंस शीट की जांच करके ये रिपोर्ट तैयार की है.

पिछले 20 वर्षों में चीन की इकोनॉमी तेजी से बढ़ी है. साल-2000 चीन वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन (WTO) का सदस्य बना था. उस समय की चीन कुल संपत्ति 7 ट्रिलियन डॉलर आंकी गई थी, जो पिछले 20 सालों में बढ़कर अब 120 ट्रिलियन डॉलर हो गई. यानी 20 सालों में चीन की संपत्ति 113 ट्रिलियन डॉलर बढ़ी है. 

अमेरिका की संपत्ति 20 साल में दोगुनी

पिछले 20 वर्षों में चीन के मुकाबले अमेरिका की संपत्ति बहुत कम बढ़ी है. साल-2020 में अमेरिका की कुल संपत्ति 90 ट्रिलियन डॉलर आंकी गई है. बीते 20 वर्षों में अमेरिकी की संपत्ति केवल दोगुनी हो पाई है. रिपोर्ट की मानें तो अमेरिका में प्रॉपर्टी के दामों में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी न होने से संपत्ति चीन के मुकाबले कम रही, और उसने पहला स्थान गंवा दिया. 

गौरतलब है कि अमेरिका और चीन दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. रिपोर्ट के मुताबिक इन दोनों ही देशों की दो-तिहाई से अधिक संपत्ति सबसे अमीर 10 फीसदी लोगों के पास है और उनका हिस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है. McKinsey की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया की 68 फीसदी संपत्ति रियल एस्टेट में निवेशित है. वहीं बाकी प्रॉपर्टी इंफ्रास्ट्रक्चर, मशीनरी एंड इक्विवपमेंट, इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी और पेटेंट्स में हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें