scorecardresearch
 
यूटिलिटी

Oyo का IPO होगा इतना बड़ा, फाउंडर रितेश अग्रवाल नहीं बेचेंगे हिस्सेदारी

Oyo का आईपीओ
  • 1/6

देश की सबसे बड़ी होटल चेन चलाने वाली स्टार्टअप कंपनी Oyo अपना IPO लाने जा रही है. कंपनी ने इसकी मंजूरी लिए मार्केट रेग्युलेटर SEBI के पास DRHP भी भेज दिया है. ये है इससे जुड़ी पूरी जानकारी
(Photos : Getty)

Oyo का 8430 करोड़ का IPO
  • 2/6

कंपनी ने सेबी के पास जो DRHP भेजा है, उसके हिसाब से ये आईपीओ 8,430 करोड़ रुपये का होगा. इसमें कंपनी 7,000 करोड़ रुपये मूल्य के नए शेयर जारी करेगी. जबकि 1,430 करोड़ रुपये के शेयर ऑफर फॉर सेल (OFS) में रखे जाएंगे.

SoftBank बेचेगी हिस्सेदारी
  • 3/6

Oyo में सबसे बड़ी निवेशक जापान की टेक इंवेस्टमेंट कंपनी SoftBank है. कंपनी Oyo में अपने कंपनी के  करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचेगी. SoftBank इस तरह A1 Holdings Inc, China Lodging और Global IVY Ventures के साथ मिलकर कंपनी में 46% हिस्सेदारी बेचने की संभावना है. 

रितेश अग्रवाल नहीं बेचेंगे शेयर
  • 4/6

Oyo के फाउंडर रितेश अग्रवाल (Ritesh Agarwal Oyo) कंपनी में अपनी हिस्सेदारी नहीं बेचेंगे. उनके साथ बाकी निवेशक Lightspeed Venture Partners, Sequoia Capital, Star Virtue Investment Limited (Didi), Greenoaks Capital, AirBnB, HT Media और Microsoft भी इसके मालिक बने रहेंगे.

Kotak, JP Morgan संभालेंगे IPO
  • 5/6

Oyo के IPO के लिए लीड मैनेजर की जिम्मेदारी Kotak Mahindra Capital Company, JP Morgan India Pvt Ltd और Citigroup Global Markets India Pvt. Ltd. की होगी.

जरूरी होता है DRHP
  • 6/6

जब भी कोई कंपनी अपना आईपीओ लाती है, तो सेबी से मंजूरी लेने के लिए DRHP यानी Draft Red Herring Prospectus जमा करती है. ये एक तरह से कंपनी के आने वाले IPO का पूरा लेखा-जोखा होता है जो बताता है कि कंपनी IPO से कितना पैसा जुटाएगी और उसका क्या इस्तेमाल करेगी. देश में किसी भी कंपनी को आईपीओ लाने के लिए सेबी की मंजूरी लेना अनिवार्य है