scorecardresearch
 
यूटिलिटी

अब शॉपिंग के लिए क्रेडिट-डेबिट कार्ड की जरूरत भी नहीं, ICICI बैंक ने शुरू की यह सुविधा

कार्ड नहीं है तो चिंता करने की जरूरत नहीं
  • 1/7

अगर आपको मार्केट में कोई बढ़िया चीज दिखती है जिसे आप खरीद लेना चाहते हैं, लेकिन आपके पर्स में क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड भी नहीं है तो अब आपको चिंता करने की जरूरत नहीं होगी. 

ICICI बैंक ने सुविधा शुरू की
  • 2/7

ICICI बैंक ने एक ऐसी सुविधा शुरू की है जिससे आप सिर्फ मोबाइल नंबर और पैन (PAN) कार्ड के आधार पर न सिर्फ शॉपिंग कर सकते है, बल्कि इस खर्च को ईएमआई में भी कन्वर्ट करा सकते हैं. 

ICICI Bank Cardless EMI
  • 3/7

बैंक ने इस सुविधा को 'ICICI Bank Cardless EMI' नाम दिया है. बैंक ने कहा कि इस सुविधा का फायदा उठाकर बैंक ग्राहक डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल के डिजिटल वॉलेट की जगह सिर्फ मोबाइल फोन और पैन की मदद से शॉपिंग कर पाएंगे. 

ओटीपी बताकर शॉपिंग कर पाएंगे
  • 4/7

यह पूरी तरह से डिजिटल ईएमआई प्लान है जिसे उसने Pine Labs के साथ साझेदारी में शुरू किया है. इसके तहत ग्राहक सिर्फ बैंक के साथ रजिस्टर्ड अपना मोबाइल नंबर और PAN बताकर तथा इसके बाद मोबाइल पर आने वाला ओटीपी बताकर पीओएस मशीन के माध्यम से शॉपिंग कर पाएंगे. 

और सुविधाजनक बनाने के लिए शुरुआत
  • 5/7

ICICI बैंक के हेड (अनसेक्योर्ड एसेट) सुदीप्त रॉय ने कहा, 'हमने ऐसा देखा कि बहुत से ग्राहक अब क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड पर मिलने वाली ईएमआई सुविधा का इस्तेमाल करते हुए कंज्यूमर गुड्स खरीदते हैं. इसे और सुविधाजनक बनाने के लिए हम कार्डलेस ईएमआई सुविधा की शुरुआत कर रहे हैं ताकि ग्राहक सिर्फ मोबाइल फोन और पैन के सहारे लेन-देन कर सकें.' 

व्यापक शॉपिंग रेंज का फायदा
  • 6/7

क्या होगा फायदा: ग्राहकों को बिना किसी कार्ड के नो कॉस्ट ईएमआई का फायदा तो मिलेगा, उन्हें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस भी नहीं देनी होगी. यह पूरी प्रक्रिया डिजिटल होगी और इसके लिए 10 लाख रुपये तक की व्यापक शॉपिंग रेंज का फायदा मिलेगा. ईएमआई की रेंज 3 महीने से 15 महीने तक होगी. 

OTP से ट्रांजैक्शन
  • 7/7

कैसे मिलेगा फायदा: इसके लिए पात्र ग्राहक बस किसी भी दुकान या शोरूम में कार्डलेस ईएमआई विकल्प चुनने को कहेंगे और दुकानदार उन्हें इस सुविधा का फायदा देगा. दुकानदार पीओएस मशीन में ग्राहक के मोबाइल नंबर और पैन को दर्ज करेगा जिसके बाद ग्राहक के पास एक ओटीपी आएगा. इस ओटीपी को दर्ज करने के बाद तुरंत ट्रांजैक्शन हो जाएगा. 

(www.businesstoday.in के इनपुट पर आधारित)