scorecardresearch
 
यूटिलिटी

जेब में लेकर चलते हैं Credit Card, ठगी से बचने के लिए गांठ बांध लें ये 5 बातें

ऑनलाइन फ्रॉड के मामले बढ़े
  • 1/6


आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं और पेमेंट के लिए क्रेडिट कार्ड का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो फिर ये खबर आपके लिए है. आजकल ऑनलाइन फ्रॉड के मामलों में तेजी से इजाफा देखने को मिल रहा है. ऐसे में आप इसका शिकार न हों, इसके लिए कुछ खास सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है. जरा सी लापरवाही आपका बड़ा नुकसान करा सकती है. इसलिए जोखिमों से बचने के लिए इन 5 बातों को गांठ बांध लें.  

कॉन्टैक्टलेस ट्रांजेक्शन हानिकारक
  • 2/6

1. कॉन्टैक्टलेस ट्रांजेक्शन हानिकारक 
आजकल बढ़ते डिजिटलीकरण के क्रम में अधिकतर क्रेडिट कार्ड कॉन्टैक्टलेस लेन-देन की सुविधा मुहैया करा रहे हैं. लेकिन यह आपके लिए बेहद हानिकारक साबित हो सकती है. दरअसल, यह सुविधा बिना पिन डाले भुगतान करने में सक्षम बनाती है. लेकिन गलती से आपका कार्ड खो जाए और गलत हाथों में पड़ जाए, तो यह आपका बड़ा नुकसान करा सकता है. इसलिए इस सुविधा को बंद करने में ही समझदारी है. 

ट्रांजैक्शन लिमिट जरूर तय करें
  • 3/6

2. ट्रांजैक्शन लिमिट जरूर तय करें 
क्रेडिट कार्ड होल्डर अपनी जरूरत के हिसाब से पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) पर लेन-देन की सीमा तय कर सकता है. इसके तहत अगर आप आमतौर पर 5,000 रुपये से अधिक के लेन-देन के लिए कार्ड का उपयोग नहीं करते हैं, तो आप इतनी ही ट्रांजैक्शन लिमिट तय कर सकते हैं. ऐसा करने से एक बार में आपके क्रेडिट कार्ड से इस लिमिट से ज्यादा का लेन-देन नहीं हो पाएगा.  

इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन बंद करें
  • 4/6

3. इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन बंद करें
क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं और किसी विदेश यात्रा पर नहीं जा रहे, तो फिर आप इंटरनेशनल लेन-देन बंद करने का विकल्प चुन सकते हैं. इसे जरूरत पड़ने पर फिर से चालू भी किया जा सकता है. इसके अलावा, किसी भी अंतरराष्ट्रीय ई-कॉमर्स या ऑनलाइन लेन-देन को सीमित या निष्क्रिय करना अच्छा होगा, क्योंकि ज्यादातर इंटरनेशनल ऑनलाइन लेन-देन सामान्य तौर पर बिना ओटीपी के पूरे हो जाते हैं. 

कार्ड की लिमिट सेट करना जरूरी
  • 5/6

4. कार्ड की लिमिट सेट करना जरूरी 
अक्सर देखा जाता है कि क्रेडिट कार्ड कंपनियां कार्ड की लिमिट बढ़वाने के लिए ग्राहक को मैसेज भेजती हैं और उपयोगकर्ता इसे बढ़वाते जाते हैं. चाहे उनकी जरूरतें कम क्यों ना हों. लेकिन क्रेडिट कार्ड की लिमिट को अपनी जरूरतों से हिसाब से रखने में समझदारी है. यानी, जब जरूरतें कम हों तो लिमिट को कम करवा लें, इससे तय राशि से ऊपर की कोई भी एक्टिविटी खुद-ब-खुद ब्लॉक हो जाएगी. जरूरत पड़ने पर लिमिट को बढ़वा भी सकते हैं. 

नकदी के लिए ना करें इस्तेमाल
  • 6/6

5. नकदी के लिए ना करें इस्तेमाल  
क्रेडिट कार्ड पर बैंक की ओर से निर्धारित मात्रा तक नकदी निकालने की सुविधा भी दी जाती है, लेकिन ऐसा करने से बचना चाहिए. नकदी निकालने के लिए आप क्रेडिट कार्ड की जगह डेबिट कार्ड का ही उपयोग करें तो बेहतर है. ऐसा इसलिए क्योंकि क्रेडिट कार्ड से जिस दिन आप नकदी निकालते हैं, उसी दिन से उस पर ब्याज लगना भी शुरू हो जाता है. ऐसे में बहुत जरूरी न हो तो क्रेडिट कार्ड से नकदी निकालने से बचना चाहिए.