scorecardresearch
 
यूटिलिटी

बैंक खाते में सिर्फ 3 हजार रुपये, तब भी खरीद सकेंगे अपना घर

आत्मनिर्भर भारत पर जोर
  • 1/8

कोरोना काल में केंद्र सरकार ने करीब 21 लाख करोड़ रुपये के आत्मनिर्भर पैकेज का ऐलान किया था. इस पैकेज के तहत लोगों को कर्ज देकर आत्मनिर्भर बनाने पर जोर दिया जा रहा है. 
 

लोन लेना हुआ आसान
  • 2/8

इसी का नतीजा है कि बैंकों या हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों ने हर तरह के लोन लेने की प्रक्रिया को आसान बना दिया है. अधिकतर बैंक अब मामूली डॉक्यूमेंट या शर्तों पर भी लोन दे रहे हैं. 
 

ICICI होम फाइनेंस की सुविधा
  • 3/8

इसी कड़ी में अब आईसीआईसीआई होम फाइनेंस भी भी मामूली शर्तों पर होम लोन दे रहा है. आईसीआईसीआई होम फाइनेंस ने दिल्ली में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कुशल कामगारों के लिए नई कर्ज योजना ‘अपना घर ड्रीम्ज’ शुरू की है. इसके तहत 2 लाख रुपये से लेकर 50 लाख रुपये तक का कर्ज लिया जा सकता है. 
 

किसे मिलेगा लोन
  • 4/8

कंपनी ने कहा कि योजना शहर में काम करने वाले बढ़ई, बिजली मिस्त्री, दर्जी, पेंटर, बेल्डिंग का काम करने वाले, नल ठीक करने वाले (प्लंबर), वाहन मिस्त्री, विनिर्माण मशीन चलने वाले, आरओ ठीक करने वाले, लघु और मझोले कारोबार करने वाले, किराना दुकानदारों के लिये है. 
 

दस्तावेज में क्या चाहिए
  • 5/8

दस्तावेज के रूप में उन्हें सिर्फ पैन (स्थायी खाता संख्या) और आधार तथा छह महीने के बैंक खाते का ब्योरा देना होगा. इस योजना के तहत ग्राहक 20 साल के लिये कर्ज ले सकते हैं. 
 

ये शर्त भी जरूरी
  • 6/8

पांच लाख रुपये तक के कर्ज के लिये न्यूनतम 1,500 रुपये जबकि 5 लाख रुपये से अधिक के कर्ज के लिये न्यूनतम 3,000 रुपये खाते में होने चाहिए.  
 

घर के सपने को पूरा करने के लिये पेशकश
  • 7/8

आईसीआईसीआई होम फाइनेंस कंपनी के सीईओ अनिरूद्ध कमानी ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई होम फाइनेंस में हमारा मकसद असंगठित क्षेत्र में कठिन मेहनत करने वाले पेशेवरों और स्थानीय छोटे कारोबारियों को अपना घर खरीदने के सपने को पूरा करने के लिये कर्ज की पेशकश करना है. ’’ 
 

प्रधानमंत्री आवास योजना का भी लाभ
  • 8/8

कंपनी ने कहा कि ग्राहक प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) का भी लाभ उठा सकते हैं. बता दें कि   यह निम्न आय वर्ग/ आर्थिक रूप से कमजोर तबकों (ईडब्ल्यूएस/एलआईजी) और मध्यम आय वर्ग (एमआईजी-1 और 2) के लिये क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी योजना है. इस योजना के तहत कर्ज लेने वाला अधिकतम 2.67 लाख रुपये तक की सब्सिडी प्राप्त कर सकता है.