scorecardresearch
 
यूटिलिटी

आपको मिल रहा है दिवाली बोनस? इस तरह समझदारी से करेंगे इस्तेमाल तो फायदे में रहेंगे

बोनस का करें सही इस्तेमाल
  • 1/7

Diwali bonus use: केंद्र सरकार ने दिवाली पर केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा गिफ्ट देते हुए उन्हें बोनस देने का ऐलान किया है. इसी तरह बहुत-सी निजी कंपनियां भी अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस दे रही हैं. अगर आप को भी बोनस मिलने वाला है या मिल चुका है, तो जाहिर है आपके लिए यह खुश होने का मौका है. आपने तो योजनाएं भी बनानी शुरू कर दी होंगी कि इस बोनस को कहां खर्च करना है. लेकिन अगर आप इस बोनस का सही इस्तेमाल करेंगे तो खुशी दोगुनी हो जाएगी. (फाइल फोटो: Getty Images)

समझदारी से ही खर्च करने में भलाई
  • 2/7

महंगे गैजेट पर खर्च करने से पहले थोड़ा ठहरिए, अगर आप बोनस की इस राश‍ि का सही तरीके से इस्तेमाल करेंगे तो आपके वित्तीय सेहत के लिए यह काफी अच्छा रहेगा. इसमें कोई शक नहीं कि कोरोना काल में ज्यादातर लोगों की वित्तीय सेहत अच्छी नहीं रही है, इसलिए पैसे को समझदारी से ही खर्च करने में भलाई है. आइए हम आपको बताते हैं कि आप बोनस का सही इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं.  (फाइल फोटो: Getty Images)

कैश भुगतान से खरीदें अप्लायंसेज
  • 3/7

कैश भुगतान से खरीदें अप्लायंसेज: अगर आपको इस बार दिवाली पर अपने घर के लिए अप्लायंसेज खरीदने हैं या धनतेरस पर सोने-चांदी में निवेश करना है तो आप इसे ईएमआई, ‘बाय नाउ, पे लेटर’ जैसी स्कीम से लेने की जगह बोनस के पैसे की मदद से कैश में खरीदें. इससे आप एक साल में 15 से 20 फीसदी का भारी ब्याज देने से बच जाएंगे और आपके बोनस का सही इस्तेमाल होगा. यही नहीं अगर आपने कहीं हॉलिडे पर जाने की तैयारी कर रखी है तो उसके लिए भी क्रेडिट कार्ड से खर्च करने की जगह बोनस की रकम से एडवांस पेमेंट करना समझदारी रहेगा. (फाइल फोटो)

कर्जों का बोझ कम कर सकते हैं
  • 4/7

कर्ज के बोझ को कम करने में इस्तेमाल: कोरोना संकट की वजह से ज्यादातर लोगों पर इन दिनों कोई न कोई कर्ज है. अगर कोई लोन नहीं है तो क्रेडिट कार्ड से ज्यादा खर्च ही एक बोझ बन गया है. तो बोनस की रकम से ऐसे कर्जों का बोझ आप कम कर सकते हैं. सबसे पहले आप इस रकम से क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन या किसी अन्य लोन को चुकाएं. आप जानते ही होंगे कि पर्सनल लोन पर 15 से 22 फीसदी का ऊंचा ब्याज दर लगता है, जबकि क्रेडिट कार्ड पर तो 40 फीसदी सालाना तक ब्याज लग जाता है. इसलिए आपको सबसे पहले ऐसे लोन के भुगतान के बारे में सोचना चाहिए. (फाइल फोटो)

एक इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए
  • 5/7

इमरजेंसी फंड बनाएं: हर किसी को अपने आकस्म‍िक जरूरतों को पूरा करने के लिए एक इमरजेंसी फंड बनाना चाहिए. कोरोना काल ने तो ऐसे इमजरेंसी फंड की जरूरतों को और भी प्रबलता से साबित किया है. जानकार कहते हैं कि किसी व्यक्ति को इतना इमरजेंसी फंड रखना चाहिए कि 6-12 महीनों की बेसिक जरूरतें पूरी हो सकें. अगर आपने अब तक ऐसा फंड नहीं बनाया है, या कोरोना में इस फंड का इस्तेमाल किया है तो फिर से बोनस की रकम का इस्तेमाल इस फंड को बनाने या दुरुस्त करने के लिए करें. (फाइल फोटो)

म्यूचुअल फंड या किसी और साधन में निवेश करें
  • 6/7

म्यूचुअल फंड में करें निवेश: इस बार दिवाली बोनस का इस्तेमाल किसी म्यूचुअल फंड या किसी और साधन में निवेश के लिए कर सकते हैं. अगर आपने पहले से किसी म्यूचुअल फंड के SIP या इस तरह के किसी दूसरे इनवेस्टमेंट टूल में निवेश करके रखा है तो, आप उसमें बोनस की बची हुई अतिरिक्त रकम को डाल सकते हैं. यही नहीं, आप किसी अच्छे निवेश सलाहकार की मदद से शेयर बाजार में अच्छी क्वालिटी के शेयरों में भी पैसा लगा सकते हैं. (फाइल फोटो)

नई स्किल सीखने में लगा सकते हैं पैसा
  • 7/7

नए स्किल सीखें: इस बार बोनस की रकम आप खुद या अपने बच्चों के लिए नई स्किल सीखने-सिखाने में लगा सकते हैं. आप ऐसे नए स्किल सीख सकते हैं जो आपके करियर की तरक्की के लिहाज से जरूरी है. इसी तरह अगर आपके बच्चे हैं तो उन्हें भी आप किसी नई स्किल को सीखने के लिए प्रेरित कर सकते हैं. कोरोना काल में करीब डेढ़ साल से भी ज्यादा समय से घर बैठे बच्चों के लिए ऐसी स्किल सीखना काफी काम आएगा. (फाइल फोटो)