scorecardresearch
 

क्या है आर्थिक सर्वेक्षण, जानें...

वित्तमंत्री अरुण जेटली संसद में आज आम बजट से पहले वित्तीय वर्ष 2014-15 का आर्थिक सर्वेक्षण पेश करने जा रहे हैं. इस सर्वे की रिर्पोट में देश के आर्थिक हालात की तस्वीर दिखेगी. देश ने मोदी सरकार आने के बाद कितनी तरक्की की है.

जेटली की पोटली से है जनता को उम्मीदें जेटली की पोटली से है जनता को उम्मीदें

वित्तमंत्री अरुण जेटली संसद में आज आम बजट से पहले वित्तीय वर्ष 2014-15 का आर्थिक सर्वेक्षण पेश करने जा रहे हैं. इस सर्वे की रिर्पोट में देश के आर्थिक हालात की तस्वीर दिखेगी. देश ने मोदी सरकार आने के बाद कितनी तरक्की की है, इसका अंदाजा भी आर्थ‍िक सर्वे की रिपोर्ट से लग जाएगा.

क्या होता है आर्थिक सर्वेक्षण (इकोनॉमिक सर्वे)
आर्थिक सर्वेक्षण से पता चलता है कि सरकार के फैसलों का देश की अर्थव्यवस्था पर कैसा असर होता है. देश के किस क्षेत्र में कितना निवेश हुआ. और कृषि समेत अन्य उद्योगों का कितना विकास हुआ, यह जानकारी भी आर्थिक सर्वेक्षण से मिलती है. बीते वित्तीय वर्ष में देश की सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था की समीक्षा के बाद वित्त मंत्रालय यह वार्षिक दस्तावेज बनाता है. इसे बजट सत्र के दौरान संसद के दोनों सदनों में पेश किया जाता है.

उपयोगी सर्वे
आर्थिक सर्वेक्षण नीति-निर्धारकों, अर्थशास्त्रियों, नीति विश्लेषकों, व्यवसायियों, सरकारी एजेंसियों, छात्रों, अनुसंधानकर्ताओं, पत्रकारों और अर्थव्यवस्था के विकास में रुचि रखने वालों के लिए उपयोगी होता है. इस सर्वे रिर्पोट में अल्पावधि से मध्यावधि के दौरान अर्थव्यवस्था की तमाम संभावनाओं का लेखा-जोखा मौजूद होता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें