scorecardresearch
 

सेंसेक्स ने लगाई 311 अंक की छलांग, सोना हुआ और सस्ता

बंबई शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला मंगलवार को लगातार छठे दिन जारी रहा और सेंसेक्स 311 अंक की छलांग के साथ एक बार फिर 26,000 अंक के स्तर को पार कर गया. वहीं सोना और चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई.

बंबई स्टॉक एक्सचेंज बंबई स्टॉक एक्सचेंज

बंबई शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला मंगलवार को लगातार छठे दिन जारी रहा और सेंसेक्स 311 अंक की छलांग के साथ एक बार फिर 26,000 अंक के स्तर को पार कर गया. वहीं सोना और चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजे उम्मीद से बेहतर रहने से निवेशकों की धारणा मजबूत हुई है.

ब्रोकरों ने कहा कि विदेशी कोषों के सतत प्रवाह, वृहद आर्थिक संकेतकों में सुधार, मानसून की प्रगति व वैश्विक बाजारों से सकारात्मक संकेतों से बाजार मजबूत हुआ. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 25,784.48 अंक पर मजबूत खुलने के बाद 26,050.38 अंक के उच्च स्तर तक गया. अंत में यह 310.63 अंक या 1.21 प्रतिशत की बढ़त के साथ 26,025.80 अंक पर बंद हुआ.

इससे पहले 7 जुलाई को सेंसेक्स 26,100.08 अंक पर बंद हुआ था. हालांकि 8 जुलाई को सेंसेक्स ने 26,190.44 अंक का उच्च स्तर छुआ था. पिछले छह सत्रों में सेंसेक्स 1,018 अंक या 2.3 प्रतिशत का लाभ दर्ज कर चुका है.

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 83.65 अंक या 1.09 प्रतिशत की बढ़त के साथ 7,767.85 अंक पर पहुंच गया. कारोबार के दौरान इसने दिन का उच्चस्तर 7,773.85 अंक भी छुआ.

कोटक सिक्योरिटीज के प्राइवेट ग्राहक समूह अनुसंधान के प्रमुख दीपेन शाह ने कहा, ‘वैश्विक बाजारों के समर्थन, भू राजनीतिक तनाव में कमी, अर्थव्यवस्था की दीर्घावधि की वृद्धि को लेकर उम्मीद से धारणा मजबूत हुई है. पिछले कुछ दिन में मानसून देश भर में पहुंच रहा है. कंपनियों के नतीजे विशेषरूप से आईटी फर्मों के, अनुमान से बेहतर रहे हैं.’ सेंसेक्स के 30 शेयरों में 25 लाभ व 5 नुकसान में रहे.

रिलायंस इंडस्ट्रीज में अच्छा लाभ दर्ज हुआ. एचडीएफसी, टीसीएस, टाटा मोटर्स, एचडीएफसी बैंक, भारती एयरटेल, आईटीसी, इन्फोसिस और विप्रो के शेयरों में भी बढ़त रही. अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने सोमवार को 161.17 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे.

एशियाई बाजारों में मजबूती का रुख रहा. हांगकांग, दक्षिण कोरिया, चीन, जापान, सिंगापुर व ताइवान के बाजारों में 0.19 से 1.69 प्रतिशत की बढ़त रही. भारतीय समयानुसार दोपहर बाद खुलने वाले यूरोपीय बाजार शुरुआती कारोबार में ऊपर चल रहे थे. आइडिया सेल्युलर के सोमवार को आए नतीजों व नियामक ट्राई द्वारा सभी श्रेणियों के स्पेक्ट्रम की भागीदारी की सिफारिश के बाद दूरसंचार कंपनियों के शेयर मांग में रहे.

रेलिगेयर सिक्योरिटीज के अध्यक्ष खुदरा वितरण जयंत मांगलिक ने कहा कि मिडकैप व स्मालकैप शेयर इस तेजी में शामिल नहीं हो पाए. आगे चलकर एफआईआई का प्रवाह व यूक्रेन व पश्चिम एशिया में भूराजनीतिक तनाव की स्थिति बाजार की दिशा तय करेंगे.

सेंसेक्स की कंपनियों में भारती एयरटेल का शेयर 4.81 प्रतिशत चढ़ गया. रिलायंस इंडस्ट्रीज में 3.35 प्रतिशत, एचडीएफसी में 2.93 प्रतिशत, टीसीएस में 2.71 प्रतिशत, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज में 2.62 प्रतिशत, विप्रो में 2.53 प्रतिशत और डॉ रेड्डीज लैब में 2.37 प्रतिशत की बढ़त दर्ज हुई. इसी तरह टाटा मोटर्स का शेयर 2.33 प्रतिशत, कोल इंडिया 2.23 प्रतिशत और एचडीएफसी बैंक 1.43 प्रतिशत चढ़ गए. वहीं दूसरी ओर मारुति के शेयर में एक प्रतिशत की गिरावट आई. एलएंडटी 0.92 प्रतिशत, एमएंडएम 0.51 प्रतिशत व भेल में 0.32 प्रतिशत की गिरावट आई.

रुपये में मामूली तेजी
मंगलवार को डॉलर के मुकाबले रुपये में मामूली तेजी दर्ज की गई. डॉलर के मुकाबले रपया 6 पैसे चढ़कर 60.24 प्रति डॉलर पर बंद हुआ. मंगलवार को विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने के बीच निर्यातकों की ओर से डॉलर बिकवाली बढ़ाये जाने से अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार (फारेक्स) में शुरआती कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 8 पैसा सुधरकर 60.22 रुपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया. फॉरेक्स बाजार में सोमवार के कारोबारी सत्र के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 2 पैसे कमजोर होकर 60.30 रपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

सोना चांदी हुए सस्ते
वैश्विक मंदी के बीच स्टॉकिस्टों की बिकवाली के चलते दिल्ली सर्राफा बाजार में मंगलवार को सोने के भाव 275 रुपये की गिरावट के साथ 28200 रुपये प्रति दस ग्राम बोले गए. बाजार सूत्रों के अनुसार घरेलू बाजार में आभूषण निर्माताओं की कमजोर मांग तथा बढ़ते शेयर बाजार निवेशकों द्वारा पूंजी बाजार में धन लगाने में सोने में गिरावट आई. उन्होंने बताया कि डॉलर मजबूत होने से विदेशों में सोने में गिरावट आई जिसका असर स्थानीय बाजारधारणा पर पड़ा. औद्योगिक इकाइयों और सिक्का निर्माताओं की मांग कमजोर पड़ने से चांदी के भाव 200 रुपये की गिरावट के साथ 45200 रुपये किलो रह गये.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें