scorecardresearch
 

स्टेट बैंक के इस ब्रांच में स्टाफ के बगैर होते हैं सारे काम

टेक्नोलॉजी के बढ़ते कदमों का असर हर क्षेत्र पर दिख रहा है. मुबंई में देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने एक ऐसा ब्रांच खोला है जिसमें स्टाफ नहीं है लेकिन अकाउंट खोलने से लेकर तमाम तरह के काम होते हैं.

भारतीय स्टेट बैंक भारतीय स्टेट बैंक

टेक्नोलॉजी के बढ़ते कदमों का असर हर क्षेत्र पर दिख रहा है. मुबंई में देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने एक ऐसा ब्रांच खोला है जिसमें स्टाफ नहीं है लेकिन अकाउंट खोलने से लेकर तमाम तरह के काम होते हैं. एक आर्थिक पत्र ने यह खबर दी है.

पत्र के मुताबिक यह ब्रांच पूरी तरह से ऑटोमैटिक है, यानी यहां कंप्यूटरों के जरिये ही सब कुछ होता है. यह ब्रांच मुबंई के शानदार फीनिक्स मॉल में स्थित है. इस ब्रांच को उस मॉल के माहौल के अनुरूप बेहद खूबसूरत बनाया गया है और वहां का इंटीरियर भी शानदार है. वहां बैंक से जुड़ा कोई भी काम बिना किसी स्टाफ के किया जा सकता है, यहां तक कि अकाउंट खोलने के लिए भी कोई नहीं होता. सभी कुछ वहां लगे मॉडर्न कंप्यूटरों की मदद से होता है.

यह ब्रांच बहुत तेजी से काम करता है और वहां महज 15 मिनटों में आपका जीरो बैलेंस वाला खाता खुल सकता है. वहां लगी एक मशीन से नो योर क्लाएंट (केवाईसी) दस्तावेज तुरंत जांचे जाते हैं. यह आधार के डेटा बेस से जुड़ा हुआ है और तुरंत काम करता है तथा उंगलियों के निशान स्कैन कर लेता है.

इस तरह का एक ब्रांच सिटी बैंक ने भी खोला है और वहां भी कोई स्टाफ नहीं है. सब कुछ कंप्यूटरों के जरिये होता है.

इस तरह के ब्रांच युवाओं को बहुत पसंद आते हैं. उन्हें टेक्नोलॉजी में दिलचस्पी है और वे बदलाव देखना चाहते हैं. वे काफी काम ऑनलाइन करते हैं और यह उनके लिए बढ़िया अनुभव है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें