scorecardresearch
 

PM मोदी देंगे मेक इन इंडिया का न्योता, इन 5 सुधारों के बूते घर लाएंगे निवेश

सोमवार को पीएम मोदी भारतीय समयानुसार वरिष्ठ सीईओ के साथ राउंडटेबल बैठक करेंगे. इस बैठक में उनका फोसक 'मेक इन इंडिया' को बढ़ावा देने पर होगा.

दावोस में CEOs के साथ राउंडटेबल बैठक करेंगे पीएम दावोस में CEOs के साथ राउंडटेबल बैठक करेंगे पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साफ कर चुके हैं कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जब भी उन्हें मौका मिलेगा, वह आर्थिक मोर्चे पर किए गए सुधारों के बारे में दुनिया को जरूर बताएंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दावोस के लिए रवाना हो चुके हैं. सोमवार को पीएम मोदी भारतीय समयानुसार वरिष्ठ CEOs के साथ राउंडटेबल बैठक करेंगे. इस बैठक में उनका फोसक 'मेक इन इंडिया' को बढ़ावा देने पर होगा.

इस दौरान पीएम मोदी यहां जमा हुए दुनियाभर के सीईओ को न सिर्फ भारत में निवेश करने का न्यौता देंगे, बल्क‍ि उन्हें भारत लाने के लिए कई अहम सुधारों और बातों का जिक्र भी करेंगे. इस दौरान वह 5 अहम मुद्दों का जिक्र कर सकते हैं.

व्यापार सुगमता

पीएम मोदी इस बैठक में विश्व बैंक की उस रिपोर्ट का जिक्र जरूर करेंगे, जिसमें भारत में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस सुधरने की बात कही गई है. विश्व बैंक के इस इंडेक्स में भारत ने 30 पायदान की लंबी छलांग मारी है और इसके साथ ही वह 100वें स्थान पर पहुंचा है. व्यापार सुगमता सुधरने का मतलब है कि देश में कारोबार करना आसान हुआ है. पीएम मोदी इस बात को जरूर इस बैठक में रखेंगे, क्योंकि इससे कारोबारी भारत की तरफ आकर्ष‍ित होंगे.   

जीएसटी

प्रधानमंत्री जीएसटी का जिक्र भी इस बैठक में कर सकते हैं. वह पहले ही इसे अब तक का सबसे बड़ा सुधार बता चुके हैं. कारोबारियों की इस बैठक में वह इसे एक राष्ट्र एक टैक्स की नीति के तौर पर पेश कर सकते हैं. एक टैक्स एक देश होने का फायदा कारोबारियों को अलग-अलग जगह पर अलग-अलग टैक्स भरने से निजात के तौर पर आसानी के तौर पर पेश कर सकते हैं.

तीन साल का ट्रैक रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री ने पिछले दिनों एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि भारत ने पिछले तीन सालों में हर फील्ड में बेहतर प्रदर्शन किया है. इसकी वजह से दुनियाभर के देश यहां पहुंच रहे हैं. पीएम मोदी इस बात के जरिये कारोबारियों को कारोबार करने के लिए सुरक्ष‍ित और सुगम माहौल के तौर पर भारत को पेश कर सकते हैं.

विदेशी निवेश को बढ़ावा

भारत सरकार ने हाल ही में कंस्ट्रक्शन और रिटेल सेक्टर में ऑटोमैटिक रूट से विदेशी निवेश को अनुमति दी है. इससे विदेशी कंपनियों की खातिर निवेश करने के नये रास्ते खुल गए हैं. इन सुधारों का जिक्र कर पीएम मोदी ये बताने में भी सफल रहेंगे कि वह विदेशी कंपनियों के लिए भारत में निवेश को आसान बनाने के लिए लगातार प्रयासरत हैं.

ऑनलाइन समाधान

मोदी सरकार ने पिछले कुछ सालों से मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए कारोबारियों के लिए कारोबार शुरू करने की खातिर अनुमति लेना आसान किया है. इस दौरान सरकार ने न सिर्फ लाइसेंसों की संख्या घटाई है, बल्क‍ि कारोबारियों को ऑनलाइन समाधान देने की कोश‍िश भी की है. ऐसे में इस बात का जिक्र भी पीएम मोदी यहां कर सकते हैं. इससे भारत में कारोबार करना कितना आसान है, इस पर दुनिया की नजर जाएगी.

बता दें कि कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह दावोस (स्विट्जरलैंड) के लिए उड़ान भर चुके हैं. मोदी दावोस में विश्व आर्थिक मंच (WEF) के कार्यक्रम में शामिल होंगे और उद्घाटन भाषण देंगे. मोदी दुनिया के सामने भारतीय अर्थव्यवस्था, यहां निवेश और अपनी नीतियों के बारे में बताएंगे.

ये करीब दो दशक के बाद है जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री इस कार्यक्रम में हिस्सा ले रहा है. कार्यक्रम का अंत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भाषण के साथ होगा. पीएम मोदी मंगलवार दोपहर करीब 2.45 बजे (भारतीय समयानुसार) फोरम को संबोधित करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें