scorecardresearch
 

बाजार से सस्ता सोना देने की मोदी सरकार की स्कीम खुली, 10 जुलाई तक करें आवेदन

मोदी सरकार की सॉवरेन गोल्ड स्कीम में सोमवार यानी 6 जुलाई से 10 जुलाई तक आवेदन किया जा सकेगा. यह सरकार के सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (2020-21) की चौथी किस्त है. इसमें आपको डिजिटल बॉन्ड के तौर पर सोने में निवेश का मौका मिलेगा.

सस्ते गोल्ड में निवेश की आई स्कीम सस्ते गोल्ड में निवेश की आई स्कीम

  • सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम निवेश के लिए खुली
  • इसमें बाजार से सस्ते दर पर होता है सोने में निवेश

अगर आप सस्ते दर पर सोने में निवेश करना चाहते हैं तो मोदी सरकार की सॉवरेन गोल्ड स्कीम आपके लिए फिर आ गई है. इस स्कीम की शुरुआत सोमवार यानी 6 जुलाई से हुई और इसमें 10 जुलाई तक आवेदन किया जा सकेगा. आइए इसकी प्रमुख बातें जानते हैं.

गौरतलब है कि दुनिया में कोरोना संकट को देखते हुए गोल्ड को इन दिनों निवेश के लिए सबसे सुरक्षित साधन माना जा रहा है. यह सरकार के सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (2020-21) की चौथी किस्त है. भारतीय रिजर्व बैंक ने अप्रैल में घोषणा की थी कि सरकार अप्रैल, 2020 से सितंबर तक छह किस्तों में इस स्कीम को जारी करेगी. यानी सितंबर तक हर महीने आपको मतलब डिजिटल बॉन्ड के तौर पर सोने में निवेश का मौका मिलेगा.

इसे भी पढ़ें: चीनी माल का बहिष्कार करेंगे व्यापारी, दिसंबर 2021 तक चीन को देंगे 1 लाख करोड़ का झटका

बाजार मूल्य से सस्ता

सॉवरेन गोल्ड स्कीम के तहत सोने की कीमत 4,852 रुपये प्रति ग्राम तय की गई है. बाजार मूल्य से ये काफी सस्ता है. फिलहाल बाजार में सोने की कीमत 48283 से 49,000 रुपये के बीच चल रही है. यही नहीं, इसके तहत उन निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट मिलेगी जो ऑनलाइन आवेदन करेंगे और भुगतान डिजिटल माध्यम से करेंगे. यानी ऐसे निवेशकों के लिए बॉन्ड की कीमत 4,802 रुपये प्रति ग्राम होगी. तो आप करीब 48,000 रुपये में 10 ग्राम सोने में निवेश कर सकते हैं. निवेश के आवेदन के बाद बॉन्ड आपको 14 जुलाई को जारी कर दिया जाएगा. इसके तहत सालाना 2.5 फीसदी का ब्याज भी दिया जाएगा.

कैसे होता है निवेश

इस स्कीम के तहत आप सोने को ​बॉन्ड के रूप में खरीद सकते हैं. इसके लिए आप बैंक, निर्धारित पोस्ट ऑफिस, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, एनएसई और बीएसई में जाकर आवेदन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:...तो उत्तर प्रदेश में बसेंगे मिनी जापान और मिनी साउथ कोरिया!

इस बॉन्ड की मियाद आठ साल की है. इसमें पांचवें साल के बाद ब्याज भुगतान की तारीख पर बाहर निकलने का विकल्प उपलब्ध है. कोई निवेशक कम से कम एक ग्राम और ज्यादा से ज्यादा चार किलो गोल्ड में निवेश कर सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें