scorecardresearch
 

रनवे से उतरी जेट एयरवेज! बैंकों ने कर्ज देने से किया इनकार

कर्ज में डूबी विमानन कंपनी को जेट एयरवेज को बैंकों ने अंतरिम 400 करोड़ रुपये का इमरजेंसी फंड देने से इनकार कर दिया है. जिसके बाद कंपनी की फिलहाल सभी उम्मीदें टूट गई हैं और अब बुधवार रात से जेट एयरवेज अपनी सभी उड़ानें अस्थाई रूप से स्थगित कर देगी. एक तरह से आज रात से जेट एयरवेज का परिचालन बंद हो जाएगा.

आर्थिक संकट में जेट एयरवेज (Photo: Getty) आर्थिक संकट में जेट एयरवेज (Photo: Getty)

कर्ज में डूबी विमानन कंपनी को जेट एयरवेज को बैंकों ने अंतरिम 400 करोड़ रुपये का इमरजेंसी फंड देने से इनकार कर दिया है. जिसके बाद कंपनी की फिलहाल सभी उम्मीदें टूट गई हैं और अब बुधवार रात से जेट एयरवेज अपनी सभी उड़ानें अस्थाई रूप से स्थगित कर देगी. एक तरह से आज रात से जेट एयरवेज का परिचालन बंद हो जाएगा.

दरअसल फिलहाल जेट एयरवेज के 5 विमान परिचालन में हैं, लेकिन वो भी बुधवार रात से उड़ान नहीं भरेंगे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जेट की आखिरी फ्लाइट आज रात 10:30 बजे उड़ेगी. कहा जा रहा है जेट एयरवेज की बोर्ड मीटिंग के बाद यह फैसला लिया गया है.

बता दें, वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने मंगलवार को कर्जदाताओं से 400 करोड़ रुपये की अंतरिम कोष की मांग की थी. ताकि एयरलाइन का सभी परिचालन अस्थाई रूप से बंद होने से बचाया जा सके. वर्तमान नियमों के तहत किसी एयरलाइन को अपने एयर परिचालन परमिट को जारी रखने के लिए कम से कम 5 विमानों का परिचालन करने की जरूरत है.

वहीं जेट एयरवेज की हालात को देखकर कर्मचारियों की निराशा चरम पर पहुंच चुकी है. अभी तक कर्जदाताओं से इमरजेंसी फंड मिलने की एक उम्मीद दिख रही थी लेकिन अब वो भी रास्ते बंद हो चुके हैं. इससे पहले जेट एयरवेज ने 15 अप्रैल को अपने अंतरराष्ट्रीय परिचालन को 18 अप्रैल तक रोकने की घोषणा की थी. ऋणदाताओं से कोष नहीं मिलने की वजह से यह फैसला लिया गया था.

गौरतलब है कि 25 साल पुरानी एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज पर 8 हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है. जेट एयरवेज को आर्थिक संकट से उबारने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने इसी हफ्ते एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें