scorecardresearch
 

रेल टिकटिंग को बढ़ावा देने के लिए IRCTC और SBI ने किया समझौता

एक समझौते के तहत IRCTC और SBI आपसी सहयोग के क्षेत्रों की तलाश करने के साथ रेल टिकटिंग गतिविधियों को बढ़ावा देने की विस्तृत योजना तैयार करेंगे.

रेल टिकटिंग को दिया जाएगा बढ़ावा रेल टिकटिंग को दिया जाएगा बढ़ावा

भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम यानी आईआरसीटीसी और देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने इंटरनेट टिकटिंग और अनारक्षित टिकटिंग प्रणाली समेत रेल टिकटिंग गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए एक बड़ी योजना तैयार करने के इरादे से एक समझौता किया है.

रेल टिकटिंग गतिविधियों को बढ़ावा देने की योजना
सोमवार को हुए इस समझौते के तहत IRCTC और SBI आपसी सहयोग के क्षेत्रों की तलाश करने के साथ रेल टिकटिंग गतिविधियों को बढ़ावा देने की विस्तृत योजना तैयार करेंगे. केटरिंग, पर्यटन और इंटरनेट टिकटिंग के क्षेत्र में कार्यरत भारतीय रेलवे सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम ‘मिनी रत्न’ IRCTC और SBI अनारक्षित टिकटिंग प्रणाली के विकास और संयुक्त तौर पर उपलब्ध कराई जाने वाली अन्य सेवाओं के कार्यों को अंजाम देंगे.

मिलकर काम करेंगे IRCTC और SBI
इसके अलावा दोनों पक्ष वित्तीय संभावनाओं के मुताबिक संयुक्त रूप से सेवाएं प्रदान करेंगे. समझौता ज्ञापन में कहा गया है, ‘दोनों पक्ष अनारक्षित टिकटिंग प्रणाली (यूटीएस) और इंटरनेट आधारित ई टिकटिंग प्रणाली के क्षेत्र में भारतीय रेलवे के उपभोक्ताओं को सुधरी हुई इंटरनेट टिकटिंग सेवाएं प्रदान करने के लिए मिलकर काम करने को तैयार हैं.’

उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं दी जाएंगी
समझौता ज्ञापन पर IRCTC की ओर से मुख्य प्रबंध निदेशक डॉ एके मनोचा और एसबीआई की ओर से मुख्य प्रबंध निदेशक अरुणधति भट्टाचार्य ने हस्ताक्षर किए. समझौता ज्ञापन के तहत दोनों पक्षों पर वैसी गतिविधियां करने की जिम्मेदारी दी गई है, जो उपभोक्ताओं को मूल्यवर्धित सेवाएं प्रदान करें और दोनों संगठनों की कार्यप्रणालियों में तालमेल स्थापित करने में मददगार हों.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें