scorecardresearch
 

पहला दीनदयालु कोच बनकर तैयार, अब जनरल डिब्बे में होगा बायो टॉयलेट और वाटर फिल्टर

आम आदमी की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए रेलवे जनरल डिब्बों को नया रूप देने में जुटी है. जल्द ही भारतीय रेलवे के जनरल डिब्बों में पीने के पानी और बॉयो टॉयलेट जैसी तमाम सुविधाएं मिलेंगी. तमाम सुविधाओं से लैस जनरल डिब्बे को दीनदयालु कोच का नया नाम दिया गया है.

आम आदमी की उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए रेलवे जनरल डिब्बों को नया रूप देने में जुटी है. जल्द ही भारतीय रेलवे के जनरल डिब्बों में पीने के पानी और बॉयो टॉयलेट जैसी तमाम सुविधाएं मिलेंगी. तमाम सुविधाओं से लैस जनरल डिब्बे को दीनदयालु कोच का नया नाम दिया गया है.

रेल मंत्री सुरेश प्रभु के निर्देश पर चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री ने दीन दयालु कोच का पहला प्रोटो टाइप तैयार कर लिया है. नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर इस डिब्बे को लाया गया है ताकि मंत्री समेत रेलवे के तमाम अधिकारी इसका दीदार कर सकें.

रेल बजट में हुआ था इन कोचों का ऐलान
मौजूदा समय में जनरल सेंकेड क्लास के कोच बिना आरक्षण के लोगों के सफर के लिए देश भर की ट्रेनों में लगाए जाते हैं. देश भर में आम आदमी इन्हीं डिब्बों में सफर करते हैं. रेल यात्रियों की सुविधा को बढ़ाने के लिए दीनदयालु कोच की घोषणा रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने 2016 के रेल बजट में में की थी. लंबी दूरी की पॉपुलर ट्रेनों में 2 से लेकर 4 दीन दयालु कोच लगाए जाने की रेलवे की योजना है.

हर कोच में दो एक्वा गार्ड फिल्टर
ऐसे हर डिब्बे में बीसियों मोबाइल चार्जर प्वॉइंट दिए गए हैं. इसके अलावा खास बात ये है कि इन डिब्बों में पीने के पानी की व्यवस्था के लिए दो एक्वा गॉर्ड वाटर फिल्टर लगाए गए हैं. दीनदयालु कोच में अंदर की तरफ एल्यूमीनियम के कंपोजिट पैनल लगाए गए हैं. डोरवेज पर स्टेनलेस स्टील के पैनल लगाए गए हैं.

डिब्बों की खूबसूरती का रखा गया है ख्याल
दीनदयालु कोच में बाहर की तरफ से ऑरेंज कलर में जेड आकार का कलर पेंट किया गया है. खास बात ये हैं कि डिब्बे में एंटी ग्रैफिटी कोटिंग की गई है, ताकि इन डिब्बों की खूबसूरती बरकरार रहे. डिब्बों के अंदर सामान रखने वाली रैक को भी गद्दीदार बनाया गया है. डोरवेज पर उचित ऊंचाई पर हैंड होल्डिंग्स लगाए गए हैं. खिड़कियों पर कोट हुक लगाए गए हैं ताकि यात्री अपने कपड़ों को इस पर टांग सकें.

कोच में एर्लडी लाइट्स और बायो टॉयलेट
दीन दयालु कोच की एक और खासियत ये है कि इनमें बॉयो-टॉयलेट लगाए गए हैं और इन टॉयलेट की फ्लोर पर खास तरह की कोटिंग की गई है. इसके अलावा टॉयलेट में कोई है या नहीं, इसके लिए भी इंडीकेटर लगाए गए हैं. हर दो सीटों के बीच एक मोबाइल चार्जर प्वॉइंट दिया गया है. हर डिब्बे में दोनों तरफ अग्निशामक यंत्र लगाए गए हैं. इसके अलावा इन डिब्बों में एलईडी लाइट्स के साथ बड़े-बड़े डस्टबिन लगाए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें