scorecardresearch
 

30 दिसंबर तक बैंक में जमा कर दें पुराने नोट, फिर नहीं मिलेगा मौका

सरकार ने एक बड़ा ऐलान किया है. सरकार ने मंगलवार को बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक तथा बैंकों के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध है और अमान्य हो चुके 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों को बैंक में जमा कराने की अंतिम तारीख 30 दिसंबर 2016 से आगे बढ़ाने पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है.

पुराने नोट बैंक में करा सकते हैं जमा पुराने नोट बैंक में करा सकते हैं जमा

नोटबंदी के फैसले के बाद आम लोगों को राहत देने के लिए सरकार कई कदम उठा रही है. अभी भी बैंकों में पुराने नोटों को जमा कराने के लिए लाइनें लंबी हैं. इसके अलावा कैश की कमी से जूज रहे लोग एटीएम के बाहर लाइनों में भी लगे हुए हैं. इस बीच, सरकार ने एक बड़ा ऐलान किया है. सरकार ने मंगलवार को बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक तथा बैंकों के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध है और अमान्य हो चुके 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों को बैंक में जमा कराने की अंतिम तारीख 30 दिसंबर 2016 से आगे बढ़ाने पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है.

आरबीआई के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध
वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने मंगलवार को राज्यसभा में बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक तथा बैंकों के पास पर्याप्त नकदी उपलब्ध है. वित्त राज्य मंत्री ने बताया कि 100 रुपये के नोटों का सर्कुलेशन पहले ही बढ़ा दिया गया है और लोगों को राहत देने के लिए तमाम और कदम उठाए जा रहे हैं.

ग्रामीण क्षेत्रों में पर भी फोकस
मेघवाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों की जरूरत पूरी करने के लिए बैंकों को 100 रुपये या उससे कम मूल्यवर्ग के नोटों की आपूर्ति करने को कहा गया है. उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि आठ नवंबर 2016 की स्थिति के अनुसार, 500 रुपये के 1716.50 करोड़ नोट तथा 1000 रुपये के 685.80 करोड़ नोट परिचालन में थे. जनता की सुविधा के लिए की गई व्यवस्था का ब्यौरा वित्त मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है.

30 दिसंबर कर करा सकते हैं पुराने नेट जमा
मेघवाल ने बताया कि अमान्य हो चुके 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों को बैंक में जमा कराने की अंतिम तारीख 30 दिसंबर 2016 से आगे बढ़ाने पर सरकार कोई विचार नहीं कर रही है.

पुराने नोट केवल खाते में जमा करा सकते हैं
गौरतलब है कि 8 नवंबर को मोदी सरकार ने 500 और 1000 के रुपये के नोटों को अमान्य घोषित करते हुए 2000 और 500 के नए नोट लाने का ऐलान किया था. सरकार ने कालेधन और नकली नोटों के कारोबार को खत्म करने के लिए ये कदम उठाया था. इसके बाद लोगों को कहा गया कि वे अपने पुराने नोट बैंकों से बदल सकते हैं. अब बैंकों में नोट बदलने का काम बंद कर दिया गया है और लोग पुराने नोट केवल अपने खाते में जमा करा सकते हैं.

अभी भी एक महीने का समय
पहले अटकलें आ रही थीं कि सरकार 30 दिसंबर से आगे भी पुराने नोट जमा कराने का काम जारी रख सकती है लेकिन अब सरकार ने साफ कर दिया है कि ऐसी कोई योजना नहीं है. हालांकि, अभी भी लोगों के पास एक महीने से ज्यादा समय है कि वे 500 और 1000 के पुराने नोट अपने बैंक खाते में जमा करा सकें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×