scorecardresearch
 

GDP के मोर्चे पर सरकार को झटका, साल 2016-17 में 7.1 फीसदी रहने का अनुमान

आर्थिक विकास के मोर्चे पर केंद्र सरकार के लिए अच्छी खबर नहीं है. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) साल 2016-17 में 7.1 फीसदी रहने का अनुमान है.

पहले जीडीपी 7.6 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया था पहले जीडीपी 7.6 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया था

आर्थिक विकास के मोर्चे पर केंद्र सरकार के लिए अच्छी खबर नहीं है. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) साल 2016-17 में 7.1 फीसदी रहने का अनुमान है.

दरअसल केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 के जीडीपी ग्रोथ के अनुमान के आंकड़े जारी कर दिए हैं. अनुमान के मुताबिक जीडीपी ग्रोथ 7.1 फीसदी तक रहने का अनुमान है.

इससे पहले वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी ग्रोथ 7.6 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया था. यानी अनुमान के मुताबिक परिणाम नहीं मिलने के आसार हैं. वहीं साल 2015-16 में 7.6 फीसदी जीडीपी रिकॉर्ड की गई थी.

इसके अलावा वित्त वर्ष 2016-17 में जीवीए ग्रोथ का अनुमान भी घटाकर 7 फीसदी कर दिया गया है. जो कि पहले 7.2 फीसदी रहने का अनुमान किया गया था.

गौरतलब है कि जीडीपी ग्रोथ का अनुमान कारोबारी साल के पहले 7 महीने के औद्योगिक उत्पादन के आधार पर लगाया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें