scorecardresearch
 

RBI गवर्नर से मिलीं वित्त मंत्री, PMC बैंक ग्राहकों को मिल सकती है राहत

फ्रॉड मामले में आरबीआई की पाबंदी झेल रहे PMC बैंक के ग्राहकों को जल्‍द ही राहत मिल सकती है. दरअसल, ग्राहकों के मुद्दे पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने RBI गवर्नर से मुलाकात की है.

दूर होगी PMC बैंक के ग्राहकों की मुश्किल दूर होगी PMC बैंक के ग्राहकों की मुश्किल

  • 10 अक्‍टूबर को PMC बैंक ग्राहकों से मिली थीं निर्मला सीतारमण
  • आरबीआई ने 6 महीने के लिए पीएमसी बैंक पर लगाई है पाबंदी

बीते दिनों रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) पर कई तरह की पाबंदियां लगा दी थीं. आरबीआई के इस फैसले की वजह से PMC बैंक के ग्राहकों की परेशानी बढ़ गई है. अब इस मुद्दे पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने RBI गवर्नर शक्‍तिकांत दास से मुलाकात की है. इस मुलाकात की जानकारी खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी है.

वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया, '' पीएमसी बैंक मामले में मैंने आरबीआई गवर्नर से मुलाकात की है. उन्होंने मुझे आश्वासन दिया कि ग्राहकों और उनकी चिंताओं को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी. हम ग्राहकों की उचित चिंताओं को समझते हैं. वित्त मंत्रालय यह सुनिश्चित करेगा कि ग्राहकों की चिंताओं को दूर किया जाए.''

खाताधारकों से मिली थीं निर्मला सीतारमण

बीते 10 अक्‍टूबर को पीएमसी बैंक पर लगाई गई पाबंदियों से नाराज खाताधारकों ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद निर्मला ने कहा कि इस मामले का वित्त मंत्रालय से कोई लेना-देना नहीं है. इस पूरे मामले पर आरबीआई नजर रखे हुए है. इसके साथ ही वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि हम ऐसी घटनाओं को रोकने की दिशा में काम कर रहे हैं. जरूरत पड़ी तो हम एक्ट में बदलाव करेंगे, लेकिन अभी इस बदलाव के बारे में ज्यादा कुछ कह नहीं सकते हैं.

क्‍या है मामला?

दरअसल, पीएमसी बैंक पर आरबीआई को गुमराह करने का आरोप है. आरोप के मुताबिक पीएमसी बैंक के मैनेजमेंट ने अपने नॉन परफॉर्मिंग एसेट और लोन वितरण के बारे में आरबीआई को गलत जानकारी दी है. यही वजह है कि आरबीआई ने 6 महीने के लिए पीएमसी बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगाई है.

केंद्रीय बैंक ने यह कार्रवाई बैंकिग रेलुगेशन एक्ट, 1949 के सेक्‍शन 35ए के तहत की है. इस पाबंदियों की वजह से ग्राहकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बैंक से ग्राहकों को पैसे निकालने में दिक्‍कत हो रही है. वहीं करीब 6 महीने तक बैंक में कोई नया फिक्‍स्ड डिपॉजिट अकाउंट नहीं खुल सकेगा. इसके अलावा बैंक के नए लोन जारी करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें