scorecardresearch
 

एक महीने में करीब 25 लाख शादियां, अर्थव्यवस्था को मिलेगी रफ्तार?

कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के मुताबिक, शादियों के मौसम में एक महीने के दौरान देश में जहां 25 लाख शादियों का अनुमान है वहीं अकेले राजधानी दिल्ली में ही करीब डेढ़ लाख शादियां प्रस्तावित हैं.

X
दिवाली पर हुई रिकॉर्ड खरीदारी दिवाली पर हुई रिकॉर्ड खरीदारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देशभर में 3 लाख करोड़ के कारोबार का अनुमान
  • दिवाली पर भी लोगों ने की थी रिकॉर्डतोड़ खरीददारी

अर्थव्यवस्था के फ्रंट पर एक अच्छी खबर है. ये अच्छी खबर ये है कि त्योहारों के बाद शादियों का मौसम शुरू होने वाला है. व्यापारियों के संगठन का अनुमान है कि 14 नवंबर से लेकर 15 दिसंबर के बीच देशभर में करीब 25 लाख शादियां होंगी. शादियों के इस मौसम में व्यापारी संगठनों के अनुमान के मुताबिक करीब तीन लाख करोड़ रुपये का व्यापार होगा.

कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के मुताबिक शादियों के मौसम में एक महीने के दौरान देश में जहां 25 लाख शादियों का अनुमान है वहीं अकेले राजधानी दिल्ली में ही करीब डेढ़ लाख शादियां प्रस्तावित हैं. इससे देशभर में जहां तीन लाख करोड़ का व्यापार होगा तो वहीं अकेले दिल्ली में ही करीब 50000 करोड़ के व्यापार का अनुमान है.

कनफेडरेशन ऑफ ऑफ इंडिया ट्रेडर्स के प्रमुख प्रवीण खंडेलवाल के मुताबिक देश के लगभग 600 जिलों में होने वाली 25 लाख शादियों में एक लाख से लेकर एक करोड़ रुपये तक खर्च हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि इसका सीधा असर बाजार पर भी दिखाई देगा क्योंकि इन शादियों में खरीददारी के लिए लोग बाजार जाएंगे जिससे कपड़ा व्यापारी, घड़ी व्यापारी, ज्वेलरी व्यापारी और कैटरिंग के कारोबारी भी लाभान्वित होंगे.
 
शादियों के शुभ मौसम में देश की अर्थव्यवस्था को भी तगड़ी रफ्तार मिलने की उम्मीद है. व्यापारी संगठनों के अनुमान महामारी के दौरान संकट झेलने वाले व्यापारियों के लिए भी शुभ समाचार है. इसी ट्रेड बॉडी के मुताबिक दिवाली के मौसम में भी लोगों ने रिकॉर्डतोड़ खरीदारी की थी जिसके चलते व्यापारियों में खुशी की लहर लौटी थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें