scorecardresearch
 

'मिशन अमानत' के तहत रेल यात्रियों को बड़ी राहत, सामान खोने पर अब नो-टेंशन!

आमतौर पर लोगों को ट्रेन में सफर करते समय सामान चोरी होने का डर सताता रहता है. ऐसे में अब यात्रा के दौरान अपने सामान की चिंता करने की जरूरत नहीं है. क्योंकि पश्चिम रेलवे (Western Railway) ने रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) के साथ मिलकर ‘मिशन अमानत’ (Mission Amanat) की शुरुआत की है.

Western Railway Western Railway
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Western Railway ने शुरू की ‘मिशन अमानत’
  • सामान की सुरक्षा को लेकर अब रेल यात्री बेफिक्र

आमतौर पर लोगों को ट्रेन में सफर करते समय सामान चोरी होने का डर सताता रहता है. ऐसे में अब यात्रा के दौरान अपने सामान की चिंता करने की जरूरत नहीं है. क्योंकि पश्चिम रेलवे (Western Railway) ने रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) के साथ मिलकर ‘मिशन अमानत’ (Mission Amanat) की शुरुआत की है.

इस पहल के तहत यात्री अपने खोए हुए सामानों को आसानी से ट्रैक कर सकते हैं और उन्हें वापस पा सकते हैं. यानी यात्रियों के साथ-साथ उनके सामान की सेफ्टी और सिक्योरिटी सुनिश्चित हो जाती है.  
 
पश्चिम रेलवे (Western Railway) ने ट्वीट कर कहा कि यात्रियों को अपना खोया हुआ सामान वापस पाना आसान बनाने के लिए पश्चिम रेलवे के RPF ने एक नई पहल की है. 'मिशन अमानत' के तहत फोटो के साथ खोए हुए सामान का विवरण पश्चिम रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर पोस्ट किया जाता है. जिसको यात्री आरपीएफ की वेबसाइट http://wr.indianrailways.gov.in खोए हुए सामान का विवरण चित्रों के साथ देख सकते हैं.

इतने समानों का हुआ रिकवरी

पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी ने प्रेस रिलीज जारी कर जानकारी साझा करता हुए कहा वर्ष 2021 के दौरान, जनवरी से दिसंबर तक पश्चिम रेलवे जोन के रेलवे सुरक्षा बल ने कुल 1,317 रेल यात्रियों से संबंधित 2.58 करोड़ रुपये मूल्य का सामान बरामद किया और उचित वेरिफिकेशन बाद उन्हें उनके असली मालिकों को वापस कर दिया गया है.

यात्रियों को ये सुविधा रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स ऑपरेशन ‘मिशन अमानत’ के तहत दिया गया है. इसके लिए पश्चिमी रेलवे आरपीएफ चौबीसों घंटे काम करता है और देश भर में फैले रेलवे की संपत्ति की सुरक्षा करता है.

पश्चिम रेलवे ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि अनधिकृत यात्रा पर रोक लगाने के लिए नियमित टिकट जांच अभियान चलाकर अप्रैल, 2021 से दिसंबर, 2021 तक यात्रा कर रहे यात्रियों से जुर्माने के रूप में 68 करोड़ रुपये का और मास्क के लिए 41.09 लाख रुपये का राजस्‍व जमा किया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×