scorecardresearch
 

Business News Updates: फिर सस्ता हुआ डीजल, पढ़ें बिजनेस जगत की बड़ी खबरें

नई दिल्ली | 19 सितंबर 2020, 10:34 AM IST

सरकारी तेल कंपनियों ने शनिवार को भी पट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया. लेकिन डीजल के भाव में 20 पैसे प्रति लीटर की कटौती की. दिल्ली में पेट्रोल का भाव 81.14 रुपये है जबकि डीजल 71.82 रुपये प्रति लीटर पर आ गया है.

पट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं पट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं

हाइलाइट्स

  • पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं
  • डीजल के भाव में 20 पैसे प्रति लीटर की कटौती
  • दिल्ली में पेट्रोल का भाव 81.14 रुपये है
  • डीजल 71.82 रुपये प्रति लीटर पर आ गया
Description

सरकारी तेल कंपनियों ने शनिवार को भी पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया. लेकिन डीजल के भाव में 20 पैसे प्रति लीटर की कटौती की. दिल्ली में पेट्रोल का भाव 81.14 रुपये है जबकि डीजल 71.82 रुपये प्रति लीटर पर आ गया है.

6:19 PM (एक महीने पहले)

सरकार आदर्श राजमार्ग पट्टियों को विकसित करेगी

Posted by :- deepak kumar

सरकार ने शनिवार को कहा कि वह सड़क निर्माण में पूर्ण दक्षता हासिल करने के प्रयास के तहत आदर्श राजमार्ग पट्टी (मॉडल हाईवे स्ट्रेच) विकसित करने की योजना बना रही है. सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री वीके सिंह ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि राजमार्ग विकास कार्य में पूर्ण दक्षता प्राप्त करने के लिए मौजूदा निर्देशों के अनुसार सभी जरूरी तकनीकी मानकों के साथ आदर्श पट्टियों (मॉडल स्ट्रेच) विकसित करने की योजना है. उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए सड़क पट्टियों के पहचान और उसको लेकर योजना अपने प्रारंभिक चरण में है. 

5:40 PM (एक महीने पहले)

कंपनियों, गारंटर के खिलाफ साथ-साथ हो सकती है कार्रवाई

Posted by :- deepak kumar

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि आईबीसी के तहत कर्ज भुगतान में चूक करने वाली कंपनियों तथा व्यक्तिगत गारंटी देने वालों के खिलाफ साथ-साथ दिवाला कार्रवाई चल सकती है. सीतारमण ने शनिवार को राज्यसभा में दिवाला एवं ऋणशोधन अक्षमता संहिता (दूसरा संशोधन) विधेयक, 2020 पर चर्चा का जवाब देते हुए यह बात कही. राज्यसभा में यह विधेयक ध्वनिमत से पारित कर दिया गया. 

4:25 PM (एक महीने पहले)

CTI ने वित्त मंत्री और पेट्रोलियम मंत्री को लिखा पत्र

Posted by :- deepak kumar

पेट्रोल और डीजल से एक्साइज ड्यूटी घटाने को लेकर चेंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को पत्र लिखा है. CTI चेयरमैन बृजेश गोयल ने केंद्र सरकार से मांग की है कि पेट्रोल और डीजल से एक्साइज ड्यूटी घटाई जाए ताकि जनता को पेट्रोल और डीजल के ऊंचे दामों से कुछ राहत मिल सके. 
 

3:43 PM (एक महीने पहले)

इस साल ईंधन की मांग 11.5 प्रतिशत घटेगी

Posted by :- deepak kumar

फिच सॉल्यूशंस का अनुमान है कि 2020 में भारत की ईंधन की मांग 11.5 प्रतिशत घटेगी. देश का आर्थिक परिदृश्य और कमजोर होने के बीच फिच सॉल्यूशंस ने ईंधन की मांग में गिरावट के अपने अनुमान को बढ़ा दिया है. फिच सॉल्यूशंस के अर्थशास्त्रियों का अनुमान है कि 2020-21 में भारत के वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 8.6 प्रतिशत की गिरावट आएगी. पहले उसने अर्थव्यवस्था में 4.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान लगाया था. 

2:34 PM (एक महीने पहले)

BMW ने लॉन्च किया R18 का नया मॉडल

Posted by :- deepak kumar

जर्मनी की लग्जरी कार कंपनी BMW की दोपहिया यूनिट बीएमडब्ल्यू मोटोराड भारत के क्रूजर बाइक बाजार में उतर गई है. कंपनी ने अपना पूरी तरह नया आर18 मोटरसाइकिल मॉडल भारतीय बाजार में पेश किया है. BMW R18 दो कैटेगरी में पेश की गई है. इनकी शोरूम कीमत क्रमश: 18.9 लाख रुपये और 21.9 लाख रुपये है.

11:01 AM (एक महीने पहले)

सरकार की कुल देनदारियां 101.3 लाख करोड़ 

Posted by :- deepak kumar

सरकार की कुल देनदारियां जून 2020 के अंत तक बढ़कर 101.3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गई. इससे पहले मार्च 2020 अंत में यह 94.6 लाख करोड़ रुपये पर थी. साल भर पहले यानी जून 2019 के अंत में सरकार का कुल कर्ज 88.18 लाख करोड़ रुपये था.

10:51 AM (एक महीने पहले)

विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट

Posted by :- deepak kumar

देश का विदेशी मुद्रा भंडार पिछले हफ्ते अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद 11 सितंबर को समाप्त सप्ताह में 35.3 करोड़ डॉलर घटकर 541.66 अरब डॉलर पर आ गया. भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़ों में यह बात सामने आई है. इससे पहले चार सितंबर को समाप्त सप्ताह में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 58.2 करोड़ डॉलर बढ़कर 542.01 अरब डॉलर रहा था. समीक्षावधि में विदेशी मुद्रा भंडार में कमी की प्रमुख वजह विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (एफसीए) में गिरावट आना है. यह कुल विदेशी मुद्रा भंडार का एक अहम अंग होता है.