scorecardresearch
 

सब्जियों पर भी महंगाई की मार, 60 रुपये तक पहुंचा टमाटर-धनिया 200 पार

त्यौहारों के मौसम में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं. महाराष्ट्र और कर्नाटक में भारी बारिश की वजह से इनकी आवक घटी है और पेट्रोल-डीजल के दामों में बेहताशा बढ़ोत्तरी भी इसकी बड़ी वजह है. धनिया भी 200 रुपये किलो तक बिक रहा है.

महंगाई से टमाटर हुए ‘लाल’ (Representative Photo) महंगाई से टमाटर हुए ‘लाल’ (Representative Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में भारी बारिश से प्याज की फसल पर असर
  • कर्नाटक, महाराष्ट्र से प्रमुख सब्जियों की आवक गिरी
  • महंगे पेट्रोल-डीजल ने भी बढ़ाए सब्जियों के दाम

त्योहारों के मौसम में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं. महाराष्ट्र और कर्नाटक में भारी बारिश की वजह से इनकी आवक घटी है और पेट्रोल-डीजल के दामों में बेहताशा बढ़ोत्तरी भी इसकी बड़ी वजह है. धनिया भी 200 रुपये किलो तक बिक रहा है.

प्याज का भाव 50 के पार

दिल्ली की गाजीपुर थोक सब्जी मंडी के चेयरमैन एस. पी. गुप्ता का कहना है कि महाराष्ट्र में भारी बारिश से प्याज की फसल पर असर पड़ा है. वहीं मध्य प्रदेश और कर्नाटक से भी आवक कम हुई है ऐसे में कुछ दिनों पहले तक कम भाव पर बिक रही प्याज अब थोक में 40 रुपये किलो तक पहुंच गई है.

टमाटर का भाव 25 किलो के लिए 900 रुपये हो गया है. न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक दिल्ली के खुदरा बाजारों में प्याज का भाव 50 रुपये किलो तक पहुंच गया है. ये पहले 35 से 40 रुपये किलो था.

टमाटर हुआ सुर्ख लाल

दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके में टमाटर का भाव 50 से 55 तो ग्रेटर कैलाश में 60 रुपये किलो तक पहुंच गया है. जबकि हफ्ता-दस दिन पहले ये भाव 40 रुपये किलो था. वहीं भोपाल में टमाटर 20 रुपये से बढ़कर 50 रुपये, खरगोन में 60 रुपये हो गया है. 

इसी तरह उत्तर प्रदेश में भी टमाटर और प्याज के दाम 40 रुपये को पार कर चुके हैं. लखनऊ में तो बैंगन जैसी सब्जी भी 30 रुपये किलो और आलू 20 रुपये किलो तक बिक रहा है.

ये भी देखें: दुर्गापूजा से पहले महंगाई पर बड़ी जीत, सितंबर में Retail Inflation दर 5 महीने में सबसे नीचे

धनिया हुआ 200 रुपये का

सब्जी के साथ मुफ्त में आने वाला धनिया भी 200 रुपये किलो का हो गया है. खबरों के मुताबिक मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में धनिये का भाव 200 रुपये किलो तो भोपाल में 150 रुपये किलो है. वहीं नींबू और अदरक के भाव में भी 4 से 5 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई है. खरगोन में गिलकी भी 70 रुपये किलो तक मिल रही है.

पेट्रोल-डीजल ने रुलाया

दिल्ली की ओखला मंडी में थोक व्यापारी हाजी यामीन का कहना है कि सब्जियों के दाम में बढ़ोत्तरी की एक बड़ी वजह पेट्रोल और डीजल के भाव का बेहताशा बढ़ना है. वहीं सब्जियों की आवक कम होने का असर तो है ही.

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें