scorecardresearch
 

Twitter Deal: एलन मस्क और ट्विटर के बीच कानूनी लड़ाई 17 अक्टूबर से होगी शुरू, 5 दिन चलेगा ट्रायल

टेस्ला कंपनी के सीईओ एलन मस्क की ट्विटर डील रद्द होने के मामले में अमेरिकी की कोर्ट 17 अक्टूबर से सुनवाई शुरू करेगी. इस हाई प्रोफाइल मामले का ट्रायल डेलावेयर कोर्ट में चलेगा. इसे मस्क के लिए एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि मस्क कोर्ट से फरवरी में मुकदमा शुरू करने की अपील कर रहे थे.

X
एलन मस्क (फाइल फोटो) एलन मस्क (फाइल फोटो)

दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क और माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के बीच की लड़ाई अब कोर्ट में लड़ी जाएगी. 44 बिलियन डॉलर की डील रद्द होने के मामले में अमेरिका की कोर्ट 17 अक्टूबर से सुनवाई शुरू करेगी. डेलावेयर कोर्ट ऑफ में जस्टिस कैथलीन मैककॉर्मिक ने ऑफिशियल शेड्यूल जारी करते हुए कहा कि इस हाई प्रोफाइल केस का ट्रायल 17 अक्टूबर से 21 अक्टूबर तक चलेगा. 

एलन मस्क ने शुक्रवार को 44 बिलियन डॉलर की डील रद्द करने के मामले में अपनी कानूनी लड़ाई को आगे बढ़ाते हुए मामले का विरोध किया. इस हफ्ते की शुरुआत में, मस्क के वकीलों ने डेलावेयर चांसरी कोर्ट को एक पत्र दायर किया, जिसमें कहा गया था कि ट्विटर प्री-ट्रायल प्रोसेस में सपोर्ट नहीं कर रहा है. ट्विटर को इसके लिए लिए बाध्य करना होगा. मस्क के वकीलों ने दावा किया कि ट्विटर उन डॉक्यूमेंट्स को भी नहीं दे रहा है, जिसे देने में कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए. ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल ने मामले की जल्द से जल्द सुनवाई करने का आग्रह किया था. 

इसे मस्क के लिए एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है क्योंकि मस्क कोर्ट से फरवरी में मुकदमा शुरू करने की अपील कर रहे थे. इसके उलट ट्विटर ने अदालत से सितंबर में ट्रायल चलाने का अनुरोध किया था. ट्विटर की अपील का मस्क की टीम ने विरोध किया था, लेकिन अब कोर्ट ने अक्टूबर में केस चलाने की अनुमति दे दी है. 

बता दें कि मस्क ने जैसे ही ट्विटर के साथ डील कैंसिल की थी, कंपनी के शेयर बुरी तरह टूट गए थे. 12 जुलाई को कंपनी के शेयर में 11 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आने से निवेशकों के 3.2 अरब डॉलर साफ हो गए थे. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक ट्विटर शेयर अप्रैल में दिए गए 54.20 डॉलर प्रति शेयर के मस्क के ऑफर से काफी नीचे पहुंच गए थे. 

क्यों शुरू हुआ मतभेद? 

बीते 13 अप्रैल को मस्क ने ट्विटर को खरीदने का ऐलान करके लोगों को चौंका दिया था. उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को 54.2 डॉलर प्रति शेयर के रेट से 44 अरब डॉलर में खरीदने का ऑफर दिया. 13 अप्रैल की फाइलिंग में यह बात सामने आई. हालांकि, 13 मई को एलॉन मस्क ने ट्विटर डील को होल्ड पर डाल दिया. इसकी वजह स्पैम और फेक अकाउंट्स थे.

दरअसल, मई की शुरुआत में SEC फाइलिंग में ट्विटर ने कहा था कि उनके प्लेटफॉर्म पर सिर्फ 5 परसेंट ही स्पैम अकाउंट हैं. इसी बात को लेकर ट्विटर और मस्क के बीच मतभेद शुरू हुआ था. इसके बाद 8 जुलाई को मस्क ने डील तोड़ने का फैसला किया. उन्होंने ट्विटर पर फेक अकाउंट्स को लेकर 'गलत जानकारी' देने आरोप लगाते हुए डील कैंसल करने का फैसला किया. वहीं, ट्विटर के चेयरमैन ने डील तोड़ने के वजह से मस्क के खिलाफ लीगल एक्शन लेने की बात कही. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें