scorecardresearch
 

शेयर बाजार में बढ़ी बिकवाली, सेंसेक्स 38 हजार अंक के नीचे, निफ्टी भी धड़ाम

तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 300.06 अंक यानी 0.79 प्रतिशत टूटकर 37,734.08 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 96.90 अंक यानी 0.86 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,153.65 अंक पर बंद हुआ.

शेयर बाजार में गिरावट शेयर बाजार में गिरावट
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सेंसेक्स मंगलवार को 300 अंक लुढ़क गया
  • निफ्टी 97 अंक की गिरावट के साथ बंद
  • मारुति का शेयर 3 प्रतिशत नीचे आया

एशिया के अन्य बाजारों में कमजोर रुख के बीच बाजार में अच्छी दखल रखने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी और मारुति के शेयरों में गिरावट के साथ बीएसई सेंसेक्स मंगलवार को 300 अंक लुढ़क गया. तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 300.06 अंक यानी 0.79 प्रतिशत टूटकर 37,734.08 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 96.90 अंक यानी 0.86 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,153.65 अंक पर बंद हुआ.

सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान में मारुति रही. कंपनी का शेयर करीब 3 प्रतिशत नीचे आया. इसके अलावा जिन अन्य प्रमुख शेयरों में गिरावट दर्ज की गई, उनमें एल एंड टी, इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, ओएनजीसी, रिलायंस इंडसट्रीज, एशियन पेंट्स और एचडीएफसी शामिल हैं. दूसरी तरफ लाभ में रहने वाले शेयरों में एचसीएल टेक, टीसीएस, सन फार्मा और टेक महिंद्रा शामिल हैं.  इस बीच, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 20 पैसे की गिरावट के साथ 73.58 पर बंद हुआ.
 

सोमवार को बाजार का हाल

वैश्विक स्तर पर बिकवाली के बीच घरेलू शेयर बाजार में बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 812 अंक लुढ़क गया जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 11,300 अंक से नीचे बंद हुआ. यह लगातार तीसरी कारोबारी सत्र था जब शेयर बाजार नीचे आया. सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान इंडसइंड बैंक को हुआ. इसमें 8.67 प्रतिशत की गिरावट आई. बाजार में गिरावट की वजह से निवेशकों की संपत्ति 4.23 लाख करोड़ रुपये घट गई. बीएसई में सूचीबद्ध सभी कंपनियों का बाजार पूंजीकरण घटकर 1,54,76,979.16 पर आ गया. 

सेबी ने तकनीकी समूह का किया गठन

इस बीच, बाजार नियामक सेबी ने सोशल स्टॉक एक्सचेंज को लेकर कायदा कानून तैयार करने के लिये एक तकनीकी समूह का गठन किया है. समूह गैर-लाभकारी संगठनों और लाभ कमाने वाले उपक्रमों को जोड़ने समेत वित्तीय और संचालन से जुड़ी खुलासों की जरूरत के बारे में अपनी सिफारिशें देगा. सेबी ने एक बयान में कहा कि समूह प्रदर्शन से संबंधित खुलासे की जरूरत के बारे में भी अपने सुझाव देगा. साथ ही सामाजिक प्रभाव और सामाजिक लेखा परीक्षा से संबंधित पहलुओं पर विचार करेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें