scorecardresearch
 

खिलौनों के निर्यात का पावर हाउस बन रहा भारत, PM मोदी ने पेश किए आंकड़े

PM Narendra Modi ने मन की बात में कहा कि पहले भारत में करीब 3,000 करोड़ रुपये से अधिक के खिलौनों (Toys) का आयात होता था, जिसमें 70 फीसदी की बड़ी कमी आई है.उन्होंने इसे देश के लिए बेहद खुशी की बात करार देते हुए कहा कि यह सब कोरोना काल में हुआ है.

X
खिलौनों के निर्यात का पावर हाउस बन रहा भारत
खिलौनों के निर्यात का पावर हाउस बन रहा भारत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पहले 300-400 करोड़ के खिलौनों का होता था निर्यात
  • अब यह आंकड़ा 26,000 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है

भारत दुनिया में खिलौनों के निर्यात (Toy's Export) का पावर हाउस बनता जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को मन की बात (Man Ki Baat) में देश के खिलौना उद्योग की जमकर तारीफ की. उन्होंने आंकड़े पेश करते हुए कहा कि पहले भारत सिर्फ 300-400 करोड़ रुपये के खिलौनों का निर्यात (Export) करता था, जो आज यह बढ़कर 2600 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. 

हर ओर वोकल फोर लोकल की गूंज 
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि मैंने पहले भारत के बारे में यह बात कही थी कि खिलौनों के निर्यात में देश एक पावरहाउस (Powerhouse) बनने की क्षमता रखता है. उन्होंने कहा कि भारतीय खिलौना उद्योग ने ऐसी सफलता हासिल की है, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी. पीए मोदी ने आगे कहा कि वोकल फोर लोकल (Vocal For Local) की गूंज आज हर ओर सुनाई दे रही है. खिलौना उद्योग इस बात की गवाही दे रहा है. 

खिलौनों का आयात 70% घटा
सरकारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 3 वर्षों में खिलौना आयात (Toy's Import) में 70 फीसदी की कमी आई है, जबकि निर्यात (Export) में 61 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मेक इन इंडिया (Make In India) मुहिम इस क्षेत्र के लिए सकारात्मक रही है. पीएम मोदी ने कहा कि पहले भारत में करीब 3,000 करोड़ रुपये से अधिक के खिलौनों का आयात होता था, जिसमें बड़ी कमी आई है. प्रधानमंत्री ने इसे देश के लिए बेहद खुशी की बात करार देते हुए कहा कि यह सब कोरोना काल में हुआ है. 

पर्यावरण अनुकूल हैं भारत के खिलौने
प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में निर्मित खिलौने परंपरा और प्रकृति दोनों के अनुरूप होने का साथ ही पर्यावरण के अनुकूल (Eco-Friendly Toys) हैं. इस सफलता के लिए प्रधानमंत्री ने युवाओं, स्टार्ट-अप और उद्यमियों को जिम्मेदार बताया है. उन्होंने कहा कि भारत के खिलौना उद्योग ने खुद को बदलकर अपनी क्षमता दुनिया में साबित कर दी है. देश में अब हर जगह खिलौनों के क्लस्टर हैं.

PM Modi ने की यह अपील
मोदी ने कहा कि भारत का खिलौना उद्योग छोटे उद्यमियों को बहुत लाभ दिला रहा है. उनके खिलौने अब दुनिया भर में बिक रहे हैं. भारत के खिलौना निर्माता दुनिया के प्रमुख ब्रांडों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. इसके साथ ही पीएम मोदी ने अपील करते हुए कहा कि आइए हम सब मिलकर भारतीय खिलौनों को पूरी दुनिया में लोकप्रिय बनाएं. इसके साथ ही मैं अभिभावकों से भी आग्रह करूंगा कि वे ज्यादा से ज्यादा भारतीय खिलौने, पजल और खेल खरीदें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें