scorecardresearch
 

RBI के ऐलान के बाद इन बड़े बैंकों ने दिया झटका, लोन हुआ महंगा

महंगाई पर काबू पाने के लिए केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में इजाफा किया है. खुदरा महंगाई दर लगातार 7 फीसदी से ऊपर बनी हुई है. ICICI Bank ने एक नोटिफिकेशन में कहा कि एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिग रेट (I-EBLR) को रिजर्व बैंक के बढ़ाए हुए रेपो रेट के अनुरूप कर दिया गया है.

X
आईसीआईसीआई बैंक ने बढ़ाया EBLR. आईसीआईसीआई बैंक ने बढ़ाया EBLR.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिजर्व बैंक ने बढ़ाया है रेपो रेट
  • महंगाई दर तय लक्ष्य से अधिक

मौद्रिक नीति समिति (MPC Meeting) की बैठक के बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो (RBI Repo Rate) रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी की है. इसका असर एक दिन बाद ही दिखने लगा है. प्राइवेट सेक्टर के बैंक आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) ने लोन देने की ब्याज दर को बढ़ा दिया है. साथ ही सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने भी कर्ज देने की ब्याज दर में इजाफा किया है. शुक्रवार को रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikant Das) ने 0.50 फीसदी रेपो रेट में बढ़ोतरी का ऐलान किया था, जिसके बाद रेपो रेट 5.40 फीसदी पर पहुंच गया है.

I-EBLR में बढ़ोतरी 

ICICI Bank ने एक नोटिफिकेशन में कहा कि एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिग रेट (I-EBLR) को रिजर्व बैंक के बढ़ाए हुए रेपो रेट के अनुरूप कर दिया गया है. ICICI Bank ने कहा कि I-EBLR अब 9.10 फीसदी सालाना या मासिक कर दिया गया है. नई दर 5 अगस्त 2022 से प्रभावी हो गई है. सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक ने रेपो रेट से संबंधित लोन रेट में इजाफा किया है. इस वजह अब लोन महंगे हो जाएंगे. EBLR वो ब्याज दर है, जिससे कम दर पर बैंक कर्ज देने की अनुमति नहीं देते हैं 

पीएनबी ने बढ़ाया रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट

पंजाब नेशनल बैंक ने एक्सटर्नल बेंचमार्क, रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) को 7.90 फीसदी कर दिया है. PNB ने एक नियामक फाइलिंग में बताया कि रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट को 7.40 फीसदी से बढ़ाकर 7.90 फीसदी कर दिया गया है. नई दरें 8 अगस्त 2022 से प्रभावी हो जाएंगी.

इस महीने की शुरुआत में ICICI Bank ने RBI के रेपो रेट में बढ़ोतरी के ऐलान से पहले MCLR बदलाव किया था. बैंक अपने कर्ज दरों को रेपो रेट से संबंधित रखते हैं. इस वजह से रेपो रेट में बदलाव का असर लोन के ब्याज पर पड़ता है.

महंगाई पर काबू पाने की कोशिश

महंगाई पर काबू पाने के लिए केंद्रीय बैंक ने रेपो रेट में इजाफा किया है. खुदरा महंगाई दर लगातार 7 फीसदी से ऊपर बनी हुई है. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कि दुनिया भर में महंगाई रिकॉर्ड स्तर पर है. भारत में महंगाई की ऊंची दरों का सामना करना पड़ रहा है. जून लगातार छठा ऐसा महीना रहा, जब खुदरा महंगाई रिजर्व बैंक के अपर लिमिट से ज्यादा रही. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें