scorecardresearch
 

Adani Mumbai Airport: गौतम अडानी के हाथ में आई मुंबई एयरपोर्ट की कमान, हजारों नई नौकरियों का वादा!

उद्योगपति गौतम अडानी के अडानी ग्रुप ने मुंबई के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे का पूरी तरह टेकओवर कर लिया है. खुद गौतम अडानी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.

X
अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडानी (Photo: Getty) अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडानी (Photo: Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ‘अडानी के पास 6 एयरपोर्ट का मैनेजमेेंट पहले से’
  • ‘मुंबई एयरपोर्ट में GVK Group की हिस्सेदारी खरीदी’
  • ‘मुंबई देश का दूसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट’

अरबपति कारोबारी गौतम अडानी के Adani Group ने मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टेकओवर पूरा कर लिया है. खुद गौतम अडानी ने ट्वीट करके मंगलवार को इसकी जानकारी दी है. अडानी ग्रुप बीते कुछ सालों से एविएशन सेक्टर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है और मुंबई एयरपोर्ट के मैनेजमेंट का टेकओवर इस दिशा में बड़ा कदम है.

हजारों नौकरियों का वादा

गौतम अडानी ने ट्वीट किया, ‘वर्ल्ड क्लास मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के मैनेजमेंट का टेकओवर करके हमें खुशी है. मुंबई को गौरवान्वित महसूस कराना हमारा वादा है. अडानी समूह बिजनेस, लक्जरी और मनोरंजन के लिए भविष्य का एयरपोर्ट इकोसिस्टम खड़ा करेगा. हम हजारों स्थानीय लोगों को नया रोजगार देंगे.’

अडानी के पास 6 एयरपोर्ट पहले से

देश के प्रमुख एयरपोर्ट का मैनेजमेंट प्राइवेट हाथों में देने के लिए केन्द्र सरकार ने वर्ष 2019 में बिडिंग मंगवाई थी. तब अडानी ग्रुप को अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, मंगलुरू, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम के हवाईअड्डों का मैनेजमेंट और ऑपरेशन मिल गया था. समूह की 100% हिस्सेदारी वाली सब्सिडियरी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) ने GMR जैसे बड़े प्लेयर को पछाडते हुए 50 साल के लिए इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करने का ठेका हासिल किया था.

GVK Group से ली मैनेजमेंट की चाबी

AAHL ने पिछले साल ही मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (MIAL) में दो और हिस्सेदार से 23.5% की हिस्सेदारी खरीदी थी. ये दो हिस्सेदार दक्षिण अफ्रीका की Bidvest (13.5%) और Airport Company of South Africa (10%) थी. ये सौदा 1,685 करोड़ रुपये का था. इसके अलावा MIAL में 50.5% हिस्सेदारी GVK Group की थी जिसे खरीदने का समझौता अडानी समूह ने पिछले साल अगस्त में ही कर लिया था. इस डील के तहत अडानी ग्रुप ने GVK Group के लगभग 2,500 करोड़ रुपये के कर्ज को भी अपने हाथ में लेने की सहमति जताई थी.

अब GVK की हिस्सेदारी लेने के बाद मुंबई एयरपोर्ट का पूरा मैनेजमेंट अडानी समूह के पास आ गया है. केन्द्र सरकार और सिटी एंड इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपारेशन (CIDCO) ऑफ महाराष्ट्र से जरूरी मंजूरियां मिलने के बाद मंगलवार को MIAL के बोर्ड की बैठक में ये निर्णय किया गया.

AAHL देश की सबसे बड़ी कंपनी
अडानी समूह की सब्सिडियरी AAHL अब देश की सबसे बड़ी एयरपोर्ट कंपनी बन गई है. मुंबई एयरपोर्ट के मिलने के बाद कंपनी के पास अब कुल 7 एयरपोर्ट का मैनेजमेंट आ गया है. साथ ही वह अगले महीने से नवी मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करेगी. इस एयरपोर्ट को 2024 तक चालू होना है.

मुंबई देश का दूसरा व्यस्त एयपोर्ट
मुंबई देश का दूसरा सबसे व्यस्त एयरपोर्ट है. 6 एयरपोर्ट के साथ AAHL के पास देश के कुल एयरपोर्ट फुटफॉल का 25% है. MIAL के मिलने के बाद उसके पास देश के एयर कारगो ट्रैफिक का 33% आ जाएगा.

कोविड-19 के हालात निपटने के बाद दुनियाभर में एविएशन सेक्टर में उछाल आने का अनुमान है. 2022 में इसके सुधरकर कोविड से पहले के 88% तक आने और 2023 में कोविड के स्तर को पार कर जाने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें:

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें