scorecardresearch
 

लाॅकडाउन से GDP को हो सकता है 1.5 लाख करोड़ का नुकसान! 80% इन तीन राज्यों में

कोरोना के रिकाॅर्ड केसेज को देखते हुए महाराष्ट्र, एनसीआर, मध्य प्रदेश और राजस्थान के कुछ इलाकों में कुछ दिनों के लिए लाॅकडाउन या आंशिक लाॅकडाउन लगाया गया है.

लाॅकडाउन से इकोनाॅमी को होगा भारी नुकसान (फाइल फोटो: PTI) लाॅकडाउन से इकोनाॅमी को होगा भारी नुकसान (फाइल फोटो: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देश के कई हिस्सों में लगा है लाॅकडाउन
  • SBI रिसर्च की रिपोर्ट में दी गई चेतावनी

कोरोना की दूसरी लहर की वजह से कई राज्यों में लगे लाॅकडाउन या आंशिक लाॅकडाउन से देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) को करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. इसमें करीब 80 फीसदी हिस्सा महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और राजस्थान का होगा. एसबीआई रिसर्च की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है.

क्या कहा गया रिपोर्ट में

SBI रिसर्च की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘विभिन्न राज्यों में मौजूदा लाॅकडाउन का जो नुकसान होने की आशंका है उसमें अकेले महाराष्ट्र का हिस्सा 54 फीसदी हो सकता है.' 

SBI रिसर्च की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘फिलहाल हमारा अनुमान है कि महाराष्ट्र में ही करीब 82,000 करोड़ रुपये का नुकसान होगा, जो आगे अंकुश सख्त होने पर निश्चित रूप से और बढ़ सकता है. दूसरी तरफ, मध्य प्रदेश में करीब 21,712 करोड़ रुपये और राजस्थान में करीब 17,237 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है. 

कई राज्यों में लाॅकडाउन 

गौरतलब है कि कोरोना के रिकाॅर्ड केसेज को देखते हुए महाराष्ट्र और एनसीआर के कुछ इलाकों में कुछ दिनों के लिए लाॅकडाउन या आंशिक लाॅकडाउन लगाया गया है. महाराष्ट्र में वीकेंड पर लाॅकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगा है. इसी तरह मध्य प्रदेश और राजस्थान के कई शहरों में भी कई तरह के अंकुश लगाए गए हैं. मध्य प्रदेश के 15 जिलों में लाॅकडाउन लगा है. राजस्थान में भी 3 मई तक लाॅकडाउन लगा है. 

ग्रोथ अनुमान घटाया 

एसबीआई रिसर्च ने कोविड 19 की दूसरी लहर में जारी अंकुश की वजह से वित्त वर्ष 2021-22 में देश के जीडीपी ग्रोथ अनुमान को घटाकर 10.4 फीसदी कर दिया है. पहले इसने 11 फीसदी की ग्रोथ का अनुमान जाहिर किया था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें