scorecardresearch
 

इस बंदरगाह पर हुआ अडानी समूह का नियंत्रण, 12000 करोड़ में खरीदा 

अडानी समूह की कंपनी APSEZ ने देश में निजी क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बंदरगाह कृष्णापट्टनम पोर्ट कंपनी लिमिटेड (KPCL) में 75 प्रतिशत नियंत्रक हिस्सेदारी खरीदी है. APSEZ  ने करीब 12,000 करोड़ रुपये के सौदे में KPCL का अधिग्रहण पूरा कर लिया है. 

X
अडानी पोर्ट ने हासिल किया नया मुकाम (फाइल फोटो) अडानी पोर्ट ने हासिल किया नया मुकाम (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अडानी ग्रुप को एक और सफलता
  • केपीसीएल बंदरगाह को खरीदा
  • करीब 12 हजार करोड़ में हुई डील

अडानी समूह ने अब कृष्णापट्टनम पोर्ट कंपनी लिमिटेड (KPCL) पर नियंत्रण हासिल कर लिया है. अडानी समूह की कंपनी अडानी पोर्ट्स ऐंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (APSEZ)  ने करीब 12,000 करोड़ रुपये के सौदे में केपीसीएल का अधिग्रहण पूरा कर लिया है. 

कंपनी ने देश में निजी क्षेत्र के इस दूसरे सबसे बड़े इस बंदरगाह में 75 प्रतिशत नियंत्रक हिस्सेदारी खरीदी है. उसने कहा है कि इस अधिग्रहण से 2025 तक बंदरगाह क्षेत्र में उसकी माल रखरखाव एवं लदान-उतरान की क्षमता बढ़कर 50 करोड़ टन सालाना तक पहुंच जाएगी. 

पहले से हैं 11 बंदरगाह एवं टर्मिनल 

अडानी समूह की कंपनी APSEZ के पास पहले से ही करीब 11 बंदरगाह और टर्मिनल हैं. इनमें मुंद्रा, दाहेज, कांडला और हजीरा (गुजरात), धर्मा (ओडिशा), मॉर्मुगाव (गोवा), विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश), कत्तूपल्ली और एन्नोर (तमिलनाडु) शामिल हैं. 

कृष्णापट्टनम पोर्ट कंपनी के इस अधिग्रहण के साथ APSEZ को उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2020-21 तक उसकी बाजार हिस्सेदारी 21 फीसदी से बढ़कर 25 फीसदी तक पहुंच जाएगी. 

क्या कहा कंपनी ने 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कंपनी ने एक बयान में बताया, ‘अडानी समूह की भारत की सबसे बड़े बंदरगाह विकासकर्ता, परिचालक और साजो-सामान उपलब्ध कराने वाली कंपनी APSEZ ने आज 12,000 करोड़ रुपये के उद्यम मूल्य पर केपीसीएल का अधिग्रहण सौदा पूरा करने की घोषणा की है. इस सौदे के बाद केपीसीएल में एपीएसईजैड की 75 प्रतिशत की नियंत्रक हिस्सेदारी हो जाएगी.'

कंपनी ने सीवीआर ग्रुप और अन्य निवेशकों से यह हिस्सेदारी खरीदी है. केपीसीएल विविध तरह के सामान के आवागमन की सुविधा देने वाला बंदरगाह है. यह आंध्र प्रदेश में स्थित है जहां देश का दूसरा सबसे बड़ा समुद्र तटीय क्षेत्र पड़ता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें