scorecardresearch
 
बिज़नेस न्यूज़

Ukraine Attack: रूस के इन बिजनेसमैन को भारी नुकसान, 24 घंटे में उड़ गई 90 बिलियन डॉलर दौलत

Russian Businessmen
  • 1/6

यूक्रेन पर हमला बोलने के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन (Vladimir Putin) ने टॉप बिजनेसमैन के साथ क्रेमलिन में मुलाकात की. पुतिन के साथ इस बैठक में रूस के कम से कम 13 अरबपति शामिल हुए. इनमें रूस के सबसे अमीर व्यक्ति वाजित एलेकपेरोव (Vagit Alekperov) के अलावा प्योतर एवेन (Pyotr Aven), आंद्रेई बोकारेव (Andrei Bokarev), आंद्रेई गुरिएव (Andrei Guriev), मिखाईल गुत्सेरिएव ( Mikhail Gutseriev), सुलेमान केरिमोव (Suleiman Kerimov), आंद्रेय मेलनिचेन्को (Andrey Melnichenko), लियोनिड मिखेलसन (Leonid Mikhelson), अलेक्सेई मोरदाशोव (Alexey Mordashov), वादिम मोशकोविच (Vadim Moshkovich), व्लादिमिर पोतानिन (Vladimir Potanin), दमित्रि पम्पयान्सकी (Dmitry Pumpyansky) and व्लादिमिर येवतुशेनकोव (Vladimir Yevtushenkov) भी मौजूद रहे. पुतिन ने यूक्रेन पर हमले को लेकर इन अरबपतियों से कहा कि जो हो रहा है, वह अपरिहार्य था. हमारे पास इसके अलावा और कोई उपाय ही नहीं था.

Putin
  • 2/6

रूस ने जैसे ही यूक्रेन पर हमला किया, दुनिया भर के शेयर बाजारों में भारी बिकवाली शुरू हो गई. रूस के शेयर बाजार मॉस्को एक्सचेंज में बिकवाली के डर से पहले ट्रेड को ही सस्पेंड कर दिया गया. बाद में जब मार्केट खोला गया तो करीब-करीब 50 फीसदी की रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई. इसके अलावा हमले के बाद अमेरिका समेत कई देशों ने रूस के खिलाफ कड़े प्रतिबंधों का ऐलान किया. इन प्रतिबंधों के दायरे में रूस के कई बैंक, बड़ी कंपनियां और बिजनेसमैन भी लाए गए हैं. अमेरिका ने रूस के इन अरबपतियों को पुतिन का इनर सर्किल करार दिया है. इन घटनाक्रमों से रूस के अरबपतियों को बीते दिनों में दौलत के भारी-भरकम नुकसान का सामना करना पड़ा है. इसके अलावा रूस की मुद्रा रूबल के डॉलर के मुकाबले रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ जाने से भी नुकसान हुआ है.

Putin3
  • 3/6

फोर्ब्स के एक ताजा आकलन के अनुसार, रूस के करीब 116 अरबपतियों को 16 फरवरी से अब तक करीब 90 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है. फोर्ब्स के अनुसार, क्रेमलिन की बैठक में कम से कम 5 ऐसे अरबपति भी मौजूद थे, जिनकी दौलत 1-1 बिलियन डॉलर से ज्यादा गिरी है. ऐसे बिजनेसमैन में एलेकपेरोव, मिखेलसन, मोरदाशोव, पोतानिन और केरिमोव शामिल हैं. फोर्ब्स का कहना है कि ये अरबपति यूक्रेन पर हमले के कारण सबसे ज्यादा नुकसान में हैं.

Elekperov
  • 4/6

रूस के सबसे अमीर व्यक्ति माने जाने वाले वाजित एलेकपेरोव को इस बदलाव से सबसे ज्यादा घाटा उठाना पड़ा है. फोर्ब्स के अनुसार, एलेकपेरोव की दौलत में इस हमले के कारण 3.8 बिलियन डॉलर यानी 15.4 फीसदी की गिरावट आई है. एलेकपेरोव कभी कैस्पियन सागर के तेल के कुएं में काम करते थे. बाद में वह सोवियत के समय में तेल मंत्री बने. अभी वह रूस की सबसे बड़ी प्राइवेट तेल कंपनी Lukoil के चेयरमैन हैं. उन्हें पुतिन का करीबी माना जाता है.

Pyotr Aven
  • 5/6

एलेकपेरोव की तरह मोरदाशोव को भी यूक्रेन क्राइसिस के कारण 3 बिलियन डॉलर से ज्यादा का नुकसान हुआ है. मोरदाशोव की संपत्ति 3.3  बिलियन डॉलर यानी 11.3 फीसदी कम हुई है. वह स्टील कंपनी Severstal के मेजॉरिटी शेयरहोल्डर हैं. वह 19 साल तक इस कंपनी के सीईओ रहे हैं. इसी तरह इंवेस्टमेंट के जरिए दौलत जुटाने वाले सुलेमान केरिमोव को 2.6 बिलियन डॉलर यानी 18.2 फीसदी का नुकसान हुआ है. उनके पास रूस की सबसे बड़ी गोल्ड कंपनी में ठीक-ठाक हिस्सेदारी है.

Tinkoff
  • 6/6

स्टील उत्पाद बनाने वाली कंपनी NLMK Group के चेयरमैन व्लादिमिर लिसिन की संपत्ति में 2.5 बिलियन डॉलर की गिरावट आई है. पहले भी विवादों में रह चुके रूसी बैंक Tinkoff के फाउंडर ओलेग तिनकोव को 2 बिलियन डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है. तिनकोव को फॉल्स टैक्स रिटर्न भरने के चलते अमेरिका में 500 मिलियन डॉलर से ज्यादा का फाइन भरना पड़ा था. इनके अलावा व्लादिमिर पोतानिन, लियोनिड मिखेलसन, गेनाडी तिमचेनको, लियोनिड फेदुन, मिखाइल शेलकोव और रोमान अब्रामोविच को भी 1-1 बिलियन डॉलर से ज्यादा नुकसान हुआ है.