scorecardresearch
 
बिज़नेस न्यूज़

छह साल में कारोबार की बुलंदियों पर पहुंची अंबानी परिवार की ये बेटी

ईशा अंबानी
  • 1/8

ईशा अंबानी परिवार के टेलीकॉम और रिटेल कारोबार से साल 2014 में एक डायरेक्टर के रूप में जुड़ीं थीं. आज वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के शीर्ष नेतृत्व में पहुंच गई हैं. पिछले दो साल में उनकी भूमिका काफी बढ़ गई है. 

कई डील का किया नेतृत्व
  • 2/8

बिजनेस टुडे मैगजीन के 4 अक्टूबर के खास अंक में ईशा अंबानी को इंडिया की मोस्ट पावरपुल वुमन की लिस्ट में शामिल किया गया है. मैगजीन के अनुसार, हाल में जब फेसबुक से जियो प्लेटफॉर्म्स (JPL) में निवेश की बातचीत चल रही थी तो ईशा इस पूरी बातचीत का नेतृत्व कर रही थीं. जियो ने करीब 43,574 करोड़ रुपये में जियो प्लेटफॉर्म्स की 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है.

ईशा अंबानी
  • 3/8

बढ़ता रहा कद: पिछले साल दिसंबर में इस बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए वह अपने जुड़वा भाई आकाश अंबानी के साथ वह कई बार चार्टर्ड फ्लाइट से अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित फेसबुक मुख्यालय गईं.  यही नहीं गूगल, क्वालकॉम और इंटेल जैसी कंपनियों को रिलायंस के साथ जोड़ने और उनसे निवेश प्राप्त करने का काम भी इन्हीं की लीडरशिप में पूरा हुआ. 

पिता मुकेश अंबानी के साथ ईशा
  • 4/8

हाल में रिलायंस रिटेल ने जब 24,713 करोड़ रुपये में फ्यूचर ग्रुप के रिटेल, लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउसिंग कारोबार का अधिग्रहण का ऐलान किया तब रिलायंस इंडस्ट्रीज की तरफ से ईशा अंबानी द्वारा ही बयान जारी किया गया, न कि मुकेश अंबानी के द्वारा. 

ईशा अंबानी की प्रेरणा से ही रिलायंस जियो की शुरुआत
  • 5/8

जियो के लॉन्च के पीछे की प्रेरणा: ईशा अंबानी की प्रेरणा से ही साल 2016 में रिलायंस समूह के द्वारा रिलायंस जियो की शुरुआत की गई. असल में साल 2011 में जब ईशा अंबानी इंटरनेट की स्पीड को लेकर परेशान थीं. इसके बाद से ही इस पर विचार शुरू हुआ कि क्यों न तेज इंटरनेट देने की टेलीकॉम सेवा शुरू की जाए. यही नहीं फैशन पोर्टल Ajio.com के लॉन्च होने के पीछे भी उन्हीं की प्रेरणा है. वह रिलायंस के हाल के चर्चित ई-कॉमर्स वेंचर जियोमार्ट का भी देखरेख करती हैं. 

आकाश और ईशा
  • 6/8

आकाश और ईशा रिलायंस रिटेल और रिलायंस जियो में एक-दूसरे की कमी पूरी करते हैं. ईशा जहां दोनों कंपनियों की ब्रैंडिंग और मार्केटिंग देखती हैं, वहीं आकाश इनके लिए टेक्नोलॉजी विकास के काम में लगे हैं. रिलायंस के पिछले एजीएम में इन्हीं जुड़वा भाई-बहनों ने जियो के लिए बिजनेस प्लान पेश किया था. 
 

परिवार के साथ ईशा
  • 7/8

ईशा और आकाश अंबानी को हाल में मैगजीन की फॉर्च्यून की ‘40 अंडर 40’ की लिस्ट में भी जगह मिली है. ईशा और आकाश की तारीफ में फॉर्च्यून मैगजीन ने कहा कि उन्होंने जियो को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है. जियोमार्ट को लॉन्च करने में आकाश और ईशा की भूमिका की भी फॉर्च्यून ने तारीफ की है. मई महीने में ही रिलायंस ने जियोमार्ट को लॉन्च किया था. भारत के तेजी से बढ़ रहे ई-कॉमर्स बाजार में रिलायंस अब दिग्गज एमेजॉन और फ्लिपकार्ट जैसे दिग्गजों के लिए चुनौती पेश कर रही है. 

ईशा और उनके पति आनंद पीरामल
  • 8/8

ईशा ने अमेरिका के येल यूनिवर्सिटी से साइकोलॉजी में अंडरग्रेजएुट और स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए की डिग्री ली है. उनकी शादी साल 2018 में आनंद पीरामल से हुई है. उन्होंने हाल में रिलायंस आर्ट्स फाउंडेशन की स्थापना की है.