scorecardresearch
 
बिज़नेस न्यूज़

Indian Tea: एक किलो चायपत्ती इतनी महंगी, असम की सुनहरी चाय ने बनाया रिकॉर्ड

इस साल की सबसे महंगी चाय
  • 1/6

पूर्वोत्तर भारत (North East India) का असम (Assam) राज्य चाय की खेती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है. असम में चाय की एक से बढ़कर एक किस्मों की खेती होती है और इन्हें दुनिया भर के खरीदार भारी-भरकम कीमत अदा कर खरीदते हैं. एक ताजा नीलामी में असम की चाय की एक किस्म ने नया रिकॉर्ड बना दिया. इस नीलामी में चाय की प्रभोजन गोल्ड टी (Prabhojan Gold Tea) किस्म के एक किलोग्राम के लिए एक लाख रुपये की बोली मिली, जो इस साल अब तक चाय की किसी किस्म के लिए मिली सबसे अधिक कीमत है.

चाय की अनोखी किस्म
  • 2/6

अधिकारियों ने बताया कि प्रभोजन गोल्ड टी को जोरहाट टी ऑक्शन सेंटर (Jorhat Tea Auction Centre)  में सोमवार को हुर्इ नीलामी में यह कीमत मिली. प्रभोजन ऑर्गेनिक टी एस्टेट ने नीलामी में असम बेस्ड चाय ब्रांड Esah Tea को यह बिक्री की. प्रभोजन गोल्ड टी की खासियत है कि इसका रंग चमकीली पीली शराब की तरह निखरकर सामने आता है. नीलामी में इसे खरीदने वाली कंपनी Esah Tea के सीईओ विजित शर्मा ने कहा कि उन्हें इस किस्म की खरीद से अपने ग्राहकों को असम की सबसे शानदार चाय में से एक पेश करने का अवसर मिलेगा.

सिर्फ एक ही किलो उत्पादन
  • 3/6

प्रभोजन ऑर्गेनिक टी एस्टेट की ऑनर राखी दत्ता सैकिया ने कहा, 'हमने चाय की इस किस्म के एक ही किलो का उत्पादन किया था. हम रिकॉर्ड ब्रेकिंग कीमत पाकर खुश हैं. यह ऐसी कीमत है, जो असम चाय की खोई इज्जत वापस दिलाने में मददगार साबित हो सकती है. इस तरह की प्रीमियम क्वालिटी वाली स्पेशियलिटी चाय की भारी डिमांड को देखते हुए पहली बार इस किस्म का उत्पादन किया गया. यह चाय की यूनिक किस्मों में से एक है.

मनोहरी के नाम ये रिकॉर्ड
  • 4/6

इससे पहले पिछले साल भी असम की चाय की एक किस्म एक किलो के लिए एक लाख रुपये का भाव पाने में कामयाब रही थी. पिछले साल दिसंबर में गुवाहाटी टी ऑक्शन सेंटर (Guwahati Tea Auction Centre) में हुई नीलामी में मनोहरी गोल्ड टी (Manohari Gold Tea) को यह शानदार कीमत मिली थी. इसका उत्पादन असम के ही डिब्रुगढ़ जिले में किया गया था. मनोहरी किस्म भी काफी खास किस्मों में से एक है. मनोहरी ग्रुप अपने तीन टी एस्टेट में इस किस्म के 25 किलो का उत्पादन करती है. यह कंपनी साल 2018 से गोल्ड किस्म के चाय का उत्पादन कर रही है. पहली बार 2018 में इस चाय के एक किलो के लिए 39,001 रुपये की कीमत मिली थी.

खास है चाय की ये किस्म भी
  • 5/6

प्रभोजन गोल्ड टी और मनोहरी गोल्ड टी से पहले सबसे महंगी चाय का रिकॉर्ड 'गोल्डन बटरफ्लाई' के नाम हुआ करता था. इसी साल गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र एक किलो 'गोल्डन बटरफ्लाई' चाय की बिक्री 75,000 रुपये की रकम में हुई थी. 'गोल्डन बटरफ्लाई' एक खास चाय है, जिसका उत्पादन डिब्रुगढ़ के निकट दिकोम टी एस्टेट में किया जाता है. इस चाय को गुवाहाटी की सबसे पुरानी चाय दुकान 'मेसर्स असम टी ट्रेडर्स' ने अपने ग्राहकों के लिए खरीदा था.

24 कैरेट सोने वाली चाय
  • 6/6

इसी तरह बीते दिनों 24 कैरेट सोने से बनी चाय चर्चा में थी. असम के कारोबारी रंजीत बरुआ ने 24 कैरेट सोने से बनी चाय हाल ही में लॉन्च की है, जिसकी कीमत 2.5 लाख रुपये प्रति किलोग्राम है. बरुआ ने सोने की चाय लॉन्च करते हुए कहा था क इस चाय के सिर्फ एक घूंट से ही आप बिल्कुल अलग अनुभव कर सकेंगे. गोल्डन ड्रिंक्स 'स्वर्ण पनम' एक ऐसी चाय है जो पूरी तरह शुद्धता का वादा करती है. इस चाय के मिश्रण को एक विशेष रूप से तैयार किया गया है, इसमें 24 कैरेट खाने योग्य सोने की बारीक पंखुड़ियां हैं और शहद के साथ असम की ब्लैक टी, चाय के क्लोन की बेहतरीन कोमल पत्तियों से बनाई गई है.