scorecardresearch
 

प्रभु नहीं जेटली से हैं उम्मीदें

प्रभु नहीं जेटली से हैं उम्मीदें

आम बजट पेश होने वाला है. इस बजट में आम आदमी रेल हादसों पर कोई ठोस भरोसा चाहते हैं. 92 साल पुरानी रेल बजट की परंपरा खत्म होने के बाद कई लोगों के मन में एक सवाल यह भी है कि अब रेलवे की योजनाओं का कैसे पता चलेगा.दरअसल रेल बजट का अभी तक मतलब रहा है. रेलवे की बैलेंसशीट का सार्वजनिक खुलासा, रेलवे की अल्पकालीन और दूरगामी योजनाओं का ऐलान यात्री और मालभाड़े के किराए में घटत-बढ़त की जानकारी. इसके अलावा रेलवे की तरफ से यात्रियों को मिलने वाली सुविधाओं की बात.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें