scorecardresearch
 

लॉकडाउन में शेयर बाजार का बढ़ा क्रेज, दिल्ली वाले हाथ आजमाने में सबसे आगे

शेयर मार्केट रेगुलेटर सेबी के मुताबिक औसतन हर महीने करीब 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले हैं. इसमें से करीब 65 फीसदी नए युवा निवेशक हैं, जिनकी उम्र 21 से 35 साल के बीच है.

शेयर बाजार में निवेश शेयर बाजार में निवेश
स्टोरी हाइलाइट्स
  • औसतन हर महीने करीब 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले
  • दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू से करीब 30% नए निवेशक जुड़े

कोरोना संकट के बीच बडे़ पैमाने पर नए निवेशक शेयर बाजार से जुड़े हैं. सेबी के मुताबिक कोरोना काल में हर महीने औसतन 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले हैं.

दरअसल लॉकडाउन के दौरान घर बैठकर लोगों से शेयर बाजार में हाथ आजमान शुरू किया. खासकर युवाओं का इस दौरान रुझान बढ़ा है. वहीं कुछ लोग अतिरिक्त कमाई के लिए शेयर बाजार से जुड़ रहे हैं. 

शेयर मार्केट रेगुलेटर सेबी के मुताबिक औसतन हर महीने करीब 5 लाख नए डीमैट अकाउंट खुले हैं. इसमें से करीब 65 फीसदी नए युवा निवेशक हैं, जिनकी उम्र 21 से 35 साल के बीच है.

इसे पढ़ें: मोदी सरकार ने बांटे 1.22 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड, जानें-अप्लाई का तरीका

सेबी द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 1 अप्रैल से 30 जून के दौरान करीब 24 लाख डीमैट अकाउंट खोले गए, केवल जून महीने में 10 लाख से ज्यादा डीमैट अकाउंट खुले. वहीं कुल डीमैट अकाउंट की बात करें यह आंकड़ा 4.5 करोड़ के करीब पहुंच गया है. 

Photo: File

जानकारों के मुताबिक 23 मार्च को शेयर बाजार में सबसे बड़ी गिरावट आई थी. इस दौरान बाजार के निचले स्तर पर नए निवेशकों की एंट्री के लिए सुनहरा मौका था. दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू से करीब 30 फीसदी नए निवेशक बाजार से जुड़े.

इसे भी पढ़ें: करना चाहते हैं खेती, जमीन खरीदने के लिए उठाएं इस योजना का लाभ

यही नहीं, बढ़ते नए निवेशकों को देखते हुए हाल ही में सेबी ने सलाह जारी की थी कि नए निवेशकों को शुरुआत में इक्विटी मार्केट से बचना चाहिए और हो सके तो गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में ही निवेश करना चाहिए. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें