scorecardresearch
 

रेल किराया में इजाफे पर बवाल, नीतीश कुमार-आजम खान ने ली नरेंद्र मोदी की चुटकी

रेल किराया और माल भाड़े में बढ़ोत्‍तरी के केंद्र सरकार के फैसले का देश भर में विरोध हो रहा है. यूपी के वाराणसी में सपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया, वहीं वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया. दिल्‍ली से लेकर जयपुर तक कांग्रेस नेताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया.

इलाहाबाद में सपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन इलाहाबाद में सपा कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन

रेल किराया और माल भाड़े में बढ़ोत्‍तरी के केंद्र सरकार के फैसले का देश भर में विरोध हो रहा है. यूपी के वाराणसी में सपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया, वहीं वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया. दिल्‍ली से लेकर जयपुर तक कांग्रेस नेताओं ने विरोध-प्रदर्शन किया. इस बीच, रेल मंत्री सदानंद गौड़ा ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर रेलवे की नई योजना पर मोदी को प्रेजेंटेशन दिया. रेल मंत्री ने किराया बढ़ोतरी की जानकारी भी मोदी को दी. किराया बढ़ाने के पीछे रेल मंत्री ने दलील दी, 'पिछली सरकार के अंतरिम बजट में प्रस्तावित दरों को लागू करने के लिए मजबूर हुआ.' बीजेपी ने भी अजीबोगरीब दलील दी. पार्टी प्रवक्‍ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, 'पिछली सरकार के फैसले को लागू किया.

लेकिन, सपा कार्यकर्ताओं ने आज इलाहाबाद में रेलवे ट्रैक जाम कर मोदी के फैसले पर अपना विरोध जताया. कार्यकर्ताओं ने इलाहाबाद के बैरहना इलाके में दिल्ली-हावड़ा रेलवे ट्रैक को जाम कर वहां से गुजर रही गंगा-गोमती एक्सप्रेस ट्रेन को बीच रास्ते रोक दिया. गंगा-गोमती एक्सप्रेस ट्रेन इलाहाबाद से लखनऊ जाती है. सपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को करीब 45 मिनट तक जाम रखा. इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं ने ट्रेन के इंजन पर चढ़कर मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जाम हटाया. इस दौरान सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस में धक्का-मुक्की भी हुई.

सपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि मोदी सरकार के इस कदम से जबरदस्त महंगाई बढ़ेगी, इसलिए वह लगातार इसका विरोध करेंगे. वाराणसी में सपा कार्यकर्ताओं ने मोदी का पुतला फूंका. सपा ने बढ़े किराए तुरंत वापस लिए जाए जाने की केंद्र सरकार से मांग की. सपा ने सड़क से लेकर संसद तक विरोध की धमकी भी दी.

सियासी विरोधियों ने ली चुटकी
मोदी के सियासी विरोधी भी रेल किराए में बढ़ोतरी पर हमला करने का मौका नहीं चूक रहे. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मोदी पर चुटकी लेते हुए कहा, रेल किराया बढ़ाना अच्‍छे दिनों की शुरुआत नहीं है. नीतीश की पार्टी जेडी(यू) की तरफ से कहा गया है, 'बजट से पहले रेल किराया बढ़ाना संसद की अवमानना है.' सपा नेता आजम खां ने कहा, 'देश की जनता को मुबारक हो अच्‍छे दिन.' राजद मुखिया लालू यादव ने कहा, 'मोदी ने देश के लोगों को अच्‍छे दिन के सब्‍जबाग दिखाकर गुमराह किया है.' सीपीआई नेता अतुल अंजान ने कहा, 'अगर लोगों की पीठ पर लात मारने से अच्‍छे दिन आते हैं तो जारी रखिए.'

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि जब वह रेल मंत्री थे तब किराए में वृद्धि का प्रस्ताव उनके सामने आया था लेकिन उन्होंने इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया क्योंकि लोकसभा चुनाव नजदीक थे और वह चाहते थे कि नई सरकार आम जनता पर बोझ डाले बिना कोई फैसला ले. लेकिन, इसके उलट सरकार ने अब एकाएक फैसला लिया है. उन्होंने साथ ही संसद के बजट सत्र से पहले एकाएक ऐसा करने की जरूरत पर सवाल उठाए. खड़गे ने कहा कि इसे लेकर संसद में चर्चा की जा सकती थी और सरकार आम जनता पर बोझ डाले बगैर तब व्यक्त किए गए विचारों के आधार पर फैसला करती.

मोदी पर दिग्विजय के तीर

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर मोदी पर निशाना साधा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें