scorecardresearch
 
बजट

बेहद अलग रहेगा इस बार का बजट, इंफ्रास्ट्रक्चर पर सरकार का फोकस

बजट से पहले मंथन
  • 1/6

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को आगामी बजट को लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर, एनर्जी और क्लाइमेट चेंज संबंधित सेक्टर एक्सपर्ट के साथ प्री-बजट विचार-विमर्श किया. इस बैठक में निर्मला सीतारमण के अलावा, वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर, वित्त सचिव डॉ एबी पांडे, मुख्य आर्थिक सलाहकार के वी. सुब्रमण्यम और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. 

एक फरवरी को संसद में होगा बजट पेश
  • 2/6

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2021-22 के संबंध में इंफ्रास्ट्रक्चर, एनर्जी और क्लाइमेट एक्सपर्ट के साथ विचार-विमर्श किया है. वित्त वर्ष 2021-22 का बजट एक फरवरी को संसद में पेश किया जाएगा. 

बेहद खास रहेगा इस बार का बजट
  • 3/6

पिछले दिनों वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि इस बार का बजट बिल्कुल अलग रहने वाला है. उन्होंने कहा था कि पिछले करीब 100 वर्षों के मुकाबले इस साल का बजट अलग होगा. सरकार चुनौतियों के हिसाब से बजट की तैयारी में है. कोरोना संकट की वजह से सरकार बजट में अपनी नई रणनीति भी पेश कर सकती है. 

इकोनॉमी को पटरी पर लाने की कोशिश
  • 4/6

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि आगामी बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर पर खास जोर रहेगा. क्योंकि इससे अर्थव्यवस्था में टिकाऊ रिकवरी देखने को मिलेगी. सरकार की कोशिश है कि नए वित्त-वर्ष में अर्थव्यवस्था की गाड़ी पटरी पर लौट आए, ताकि सरकार लक्ष्य तक पहुंच सके.  

दिग्गजों के साथ बैठकें
  • 5/6

बता दें, बजट से पहले हर साल वित्त मंत्री विभिन्न सेक्टर्स के दिग्गजों के साथ बैठकें करती हैं, उनसे बजट को लेकर सुझाव लिए जाते हैं. इस साल कोरोना महामारी से देश की अर्थव्यवस्था काफी प्रभावित हुई है. ऐसे में बजट का महत्व और बढ़ गया है.
 

प्री-बजट बैठकें वर्चुअली
  • 6/6

हालांकि कोरोना महामारी की वजह से इस बार सभी प्री-बजट बैठकें वर्चुअली हो रही हैं. कुछ दिन पहले ही सरकार ने इस बजट को लेकर आम जनता से भी राय मांगी थी. इसके लिए सरकार ने MyGov प्लेटफॉर्म से जुड़ने की सुविधा दी हुई थी.