scorecardresearch
 

Qute है इंडिया की सबसे सस्ती ‘कार’, 34 का माइलेज, जानें क्या है कीमत

अगर आप सोच रहे हैं कि ऊपर Qute की स्पेलिंग गलत लिखी है, तो हम आपको बता दें कि यहां हम बात Qute के बारे में करने वाले हैं, ये असल में एक क्वाड्रिसाइकिल है, जो दिखने में कार जैसी है और इस हिसाब से ये देश की सबसे सस्ती कार है...

X
Qute दिखती है इंडिया की सबसे सस्ती कार Qute दिखती है इंडिया की सबसे सस्ती कार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 34 किमी का माइलेज देती है Qute
  • लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए बेहतर
  • असल में क्वाड्रिसाइकिल है Qute

अगर आप सोच रहे हैं कि ऊपर Qute की स्पेलिंग गलत लिखी है, तो हम आपको बता दें कि यहां हम बात Qute के बारे में करने वाले हैं, ये असल में एक क्वाड्रिसाइकिल है, जो दिखने में कार जैसी है और इस हिसाब से ये देश की सबसे सस्ती ‘कार’ है...

34 किमी का माइलेज देती है Qute
कार जैसी दिखने वाली Qute को Bajaj Auto ने तैयार किया है. इसमें एक ऑटो रिक्शा के बराबर 216cc का इंजन है. ये 13.1 PS की मैक्स पॉवर और 18.9 Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है. इसमें 5-स्पीड गियर बॉक्स है. वहीं इसकी टॉप स्पीड 70 किमी है.

इसे भी देखें : सबसे ज्यादा माइलेज वाली CNG कार लॉन्च, बाइक से भी कम खर्चे में करें सफर

कंपनी का दावा है कि सीएनजी से चलने पर ये एक किलोग्राम में 50 किलोमीटर, पेट्रोल पर एक लीटर में 34 किलोमीटर और एलपीजी पर एक लीटर में 21 किलोमीटर का माइलेज देती है. Qute को पहले RE60 के नाम से जाना जाता था.

बजाज ऑटो ने बनाई है Qute
बजाज ऑटो ने बनाई है Qute

साइज में छोटी, स्टोरेज में बड़ी
Qute की लंबाई 2.7 मीटर है. इसमें सामान रखने के लिए 20 लीटर का फ्रंट स्टोरेज है, हालांकि इसकी छत पर रैक लगाकर स्टोरेज क्षमता बढ़ाई जा सकती है. इसमें ड्राइवर समेत 4 लोग बैठ सकते हैं. इसकी कीमत महाराष्ट्र में 2.48 लाख रुपये से शुरू होती है. इस तरह ये देश की सबसे सस्ती कार है.

इसे भी देखें : सर्दी में गर्म, गर्मी में सिर को ठंडा रखता है ये हेलमेट, गंदा होने पर धो भी सकते हैं

Bajaj Qute है क्वाड्रिसाइकिल
क्वाड्रिसाइकिल हल्के वाहनों की एक नई कैटेगरी है. चार पहियों वाली गाड़ी को आम तौर पर क्वाड्रिसाइकिल कहा जाता है. लेकिन ये कार से काफी अलग होती है, इसलिए इसे एक अलग कैटेगरी के तौर पर पहचाना जाता है. Qute को लास्ट माइल कनेक्टिविटी को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है. ये आम ऑटोरिक्शा और टैक्सी का मिला हुआ रूप है और सामान्य ऑटो रिक्शा के मुकाबले अधिक सुरक्षित भी, वहीं ये हर मौसम में भी सेफ्टी देती है. आमतौर पर इसका उपयोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट में किया जाता है. लेकिन एबीएस और एयरबैग के फीचर्स के अलावा कुछ और कंडीशन के साथ अब सरकार ने इसे इसे पर्सनल व्हीकल के तौर पर यूज करने की भी अनुमति दी है.

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें